लुधियाना, जेएनएन। लोक इंसाफ पार्टी के विधायक सिमरजीत सिंह बैंस ने इंडस्ट्री व दुकानदारों के बिजली के मिनिमम बिल माफ करने के लिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को पत्र लिखा है। बैंस ने कहा कि कर्फ्यू के चलते प्रदेश की सभी इकाइयां बंद हैं। ऐसे में बिजली का मिनिमम चार्ज होने वाला बिल लिया जाए तो यह नाइंसाफी होगी, जबकि नियम अनुसार अगर कोई काॅॅमर्शियल कनेक्शन पर एक भी यूनिट बिजली की खपत ना हो तब भी उसके पावर कनेक्शन के हिसाब से मिनिमम बिल देना ही पड़ता है।

बैंस ने कहा कि सरकार को खुद ही बिजली माफी की घोषणा करनी चाहिए थी। विश्व की सरकारें अपने नागरिकों को सहुलियतें दे रही हैं। इसके विपरीत पंजाब सरकार मिनिमम बिल लेने पर तुली हुई है। विधायक ने कहा कि कर्फ्यू की वजह से लोग काफी परेशानी झेल रहे हैं और लोगों की आर्थिक स्थिति खराब हो गई है। ऐसे समय में सरकार को लोगों की मदद करनी चाहिए।  

शिरडी साईं राम सेवा समिति ने बांटा राशन

कर्फ्यू के कारण फंसे लोगों को समाजसेवक मोनू शर्मा के संयोजकत्व में शिरडी साईं राम सेवा समिति की ओर से लंगर मुहैया करवाया गया। सदस्यों ने स्वरूप नगर, भट्टियां और दाना मंडी में 600 लोगों को लंगर और 10 परिवारों को राशन वितरित किया। इस अवसर पर दिनेश कालड़ा, विक्की अरोड़ा, मगन कुमार, नवीन, चेतन गंभीर, अमित कुमार, बिट्टू शर्मा, राज कुमार, राजेश विग आदि मौजूद थे।

फैक्टियों को खोलने का फैसला घातक: जीवन गुप्ता

पंजाब से जा रहे लोगों को रोकने में राज्य सरकार नाकाम साबित हुई है। उसके बाद फैक्टियों को खोलने का फैसला बेहद घातक साबित होगा। यह बात भाजपा के प्रदेश महासचिव जीवन गुप्ता ने कही है। सब जानते है कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए फिजिकल डिस्टेंस ही एकमात्र उपाय है। इसके बावजूद सरकार कर्फ्यू के दौरान फैक्टियां खोलने पर आमादा है। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Satpaul

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!