जागरण संवाददाता, लुधियाना : लुधियाना में नगर निगम नहरी पानी की सप्लाई के लिए विश्व बैंक से भारी भरकम राशि ले रहा है। विश्व बैंक से निगम को इस प्रोजेक्ट के लिए तभी लोन मिलेगा जबकि निगम सभी से पानी सीवरेज के बिलों की वसूली करे। नगर निगम हाउस ने 125 वर्ग गज तक के घरों को पानी-सीवरेज बिल में दी जाने वाली माफी को खत्म कर दिया था। अब सिर्फ 50 वर्ग गज तक के घरों को ही पानी व सीवरेज का बिल माफ है। निगम के इस फैसले का पहले भाजपा व अकाली दल विरोध कर चुके हैं। अब कांग्रेस विधायक सुरिंदर डावर, सीनियर डिप्टी मेयर शाम सुंदर मल्होत्रा व सेंट्रल हलके के पार्षदों ने भी निगम के इस फैसले का विरोध करना शुरू कर दिया। वीरवार को विधायक सुरिंदर डावर पार्षदों के साथ मेयर कैंप दफ्तर पहुंचे और मेयर के सामने उन्होंने अपना विरोध दर्ज किया।

उन्होंने नए बिजली मीटरों के हिसाब से अवैध निर्माणों को नोटिस भेजे जाने पर भी विरोध जताया। विधायक सुरिंदर डावर ने बताया कि 125 गज तक के घरों से निगम के पानी व सीवरेज बिल वसूलने के फैसले से शहरवासियों में रोष है। उन्होंने कहा कि आम लोगों के अलावा सीनियर डिप्टी मेयर, पार्षद व कांग्रेस नेता भी नहीं चाहते हैं कि यह बिल लोगों से वसूले जाएं। मेयर बलकार सिंह संधू ने बैठक में भरोसा दिया कि उनकी मांगों पर जरूर गौर किया जाएगा।

भगवान महावीर के नाम पर रही रहेगा मिनी रोज गार्डन का नाम

विधायक सुरिंदर डावर ने बताया कि मिनी रोज गार्डन में कुछ शरारती तत्वों ने भगवान महावीर के नाम को खराब कर दिया है। उन्होंने बताया कि इस संबंध में पुलिस को शिकायत दे दी गई है। उन्होंने कहा कि मिनी रोज गार्डन का नाम भगवान महावीर के नाम से ही रहेगा। मेयर बलकार सिंह संधू, सीनियर डिप्टी मेयर शाम सुंदर मल्होत्रा ने भी कहा कि भगवान महावीर के नाम को खराब करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Vinay Kumar