लुधियाना : शिरोमणि अकाली दल व भारतीय जनता पार्टी ने संयुक्त रूप से 25 जुलाई को निगम मुख्यालय पर ताला जड़ने का एलान किया है। दोनों पार्टियों के पदाधिकारियों ने फिरोजपुर रोड पर आयोजित अहम मीटिंग में ये फैसला लेते हुए कहा कि दिवालिया हो चुका निगम अपने खुले होने का हक भी खो चुका है।

भाजपा के जिला अध्यक्ष रविंदर अरोड़ा व शिरोमणि अकाली दल के जिलाध्यक्ष रणजीत सिंह ढिल्लों की देखरेख में हुई मीटिंग के दौरान वक्ताओं ने कहा कि शिअद भाजपा सरकार के समय तेज गति से हो रहे विकास को कांग्रेस की गलत नीतियों ने ब्रेक लगा दी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के लोग परेशान हैं और उनकी समस्याओं का कोई हल नहीं हो रहा है। परेशान लोग अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं फिर भी सुनवाई नहीं हो रही है। नगर का भी बुरा हाल है। शहर के लोगों को मूलभूत सुविधाएं भी नहीं मिल पा रही है। अधिकारियों को कई कई बार बताने पर भी शहर के हालात नहीं बदल रहे। बारिश के कारण पूरे शहर में जलभराव हो रहा है। शहर की समस्याओं पर अधिकारियों मुंह बाए खड़े हैं। अब हालात ऐसे हैं कि पंजाब की सबसे बड़ी नगर निगम के पास कर्मचारियों को देने के लिए वेतन तक की रकम नहीं है। भाजपा के प्रदेश कोषाध्यक्ष गुरदेव शर्मा देबी व जिला उपाध्यक्ष परमिंदर मेहता ने कहा कि काग्रेस नेता गठबंधन सरकार के समय विकास के बाबजूद निगम को ताले लगाने पहुंच गए थे। जबकि अब असल मे निगम का खोखलापन लोगों के सामने है।

Edited By: Jagran

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!