जेएनएन, श्री माछीवाड़ा साहिब (लुधियाना)। माछीवाड़ा में चार माह पहले मोरिंडा निवासी राजू सिंह लापता हो गया था। अब पुलिस ने उसकी लाश एक खेत से बरामद की है। साथ ही पूरे मामले से भी पर्दा उठ गया है। पुलिस के मुताबिक राजू की हत्या उसी के साढ़ू तेजिंदर सिंह ने अपने साथियों के साथ मिलकर की थी। कारण, तेजिंदर सिंह के राजू की पत्नी के साथ प्रेम संबंध बन गए थे और इसीलिए उसने इश्क में रोड़ा बने राजू को रास्ते से हटा दिया और लाश खेत में दबा दी थी।

समराला के डीएसपी हरविंदर सिंह खैहरा और थाना मुखी विजय कुमार ने बताया कि राजू सिंह और तेजिंदर सिंह आपस में साढ़ू हैं। माछीवाड़ा निवासी तेजिंदर सिंह का अपनी पत्नी से तलाक हो चुका है। इसके बाद उसके अपनी साली (राजू की पत्नी) से प्रेम संबंध बन गए। राजू की पत्नी अपने पति को छोड़ बच्चों समेत तेजिंदर के साथ फरार भी हो गई थी। हालांकि बाद में समझौता करने के बाद वो वापस राजू के पास आ गई थी। अब फिर पिछले कुछ महीनों से वह तेजिंदर के साथ रहने लगी थी। इससे राजू काफी परेशान था।

बीती 13 मई को वह अपनी पत्नी व बच्चों को लेने के लिए तेजिंदर सिंह के पास गया तो उनमें झगड़ा हो गया। डीसीएपी खैहरा ने बताया कि उसी दिन से राजू  लापता था। इसकी गुमशुदगी रिपोर्ट माछीवाड़ा पुलिस थाना में दर्ज की गई थी। कुछ दिन पहले ही राजू सिंह के साले संतोष कुमार ने पुलिस के पास बयान दर्ज करवाए कि राजू का कत्ल तेजिंदर सिंह और उसके दो साथियों ने किया है और लाश कहीं ठिकाने लगा दी है। इसके बाद पुलिस ने केस दर्ज कर तेजिंदर सिंह और उसके एक साथी सैमल को गिरफ्तार कर लिया।

इसके बाद पूछताछ में पता चला कि तेजिंदर ने अपने साथी सैमल व रिक्की निवासी लक्खोवाल कलों को साथ लेकर किरच मारकर राजू का 13 मई को ही कत्ल कर दिया था और लाश माछीवाड़ा के पास नाले के किनारे खेत में बने कमरे में दबा दी थी। पुलिस ने उनकी निशानदेही पर उस कमरे में खोदाई करवाई तो वहां एक कंकाल मिला। पुलिस अब जांच करवा रही है कि क्या ये लाश राजू की ही है। पुलिस ने इस मामले में फरार रिक्की की भी तलाश शुरू कर दी है।