जागरण संवाददाता, लुधियाना। Petrol & Diesel Price Hike: फेडरेशन ऑफ इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल ऑर्गेनाइजेशन (फिको) ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में भारी बढ़ोतरी का कड़ा विरोध किया और पेट्रोलियम मंत्रालय, केंद्र सरकार, राज्य सरकार से करों में कमी करके तत्काल तेल की कीमतें कम करने की मांग की है। फिको ने यह भी मांग की कि पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के तहत लाया जाए। पंजाब के औद्याेगिक शहर लुधियाना में पेट्राेल 108 और डीजल 99 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है।

गुरमीत सिंह कुलार और मनजिंदर सिंह सचदेवा ने कहा कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार वृद्धि, सरकार का असंवेदनशील कदम कहा जा सकता है। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार वृद्धि हो रही है और सरकार को तुरंत बढ़ोतरी को वापस लेना चाहिए। राजीव जैन ने कहा कि सरकार को देश में ईंधन की कीमतों में वृद्धि के बजाय बाजार में तरलता बढ़ाने की कोशिश करनी चाहिए, ईंधन की कीमत में यह वृद्धि केवल मुद्रास्फीति को बढ़ावा देगी। यह उच्च समय है कि सरकार को पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों पर अंकुश लगाना चाहिए।

यह भी पढ़ें-एक दिन के लिए पंजाब की राजधानी बनेगा लुधियाना, कैबिनेट मीटिंग के लिए चमकने जिला प्रशासकीय कांप्लेक्स

महंगाई के चलते इंडस्ट्री को मटीरियल भेजने में आ रही परेशानी

अन्यथा देश की अर्थव्यवस्था पहले से ही नीचे के स्तर पर है और उसमे ओर गिरावट आएगी। इसमें प्रदेश सरकार को भी राहत देते हुुए अपने टेक्स के बोझ को कम करना चाहिए। ताकि पंजाब के लोगों को पेट्रोल एवं डीजल वाजिब दामों पर मिल सके। अगर सरकार पेट्रोल डीजल को जीएसटी के दायरे में ले आए, तो एक बड़ी राहत मिल सकती है। महंगाई के चलते इंडस्ट्री को मटीरियल भेजने से लेकर रा मटीरियल लाने तक कास्टिंग बढ़ गई है। इसके साथ ही बिजली न होने पर महंगे डीजल पर जरनेटर चलाना पड़ता है। इसलिए सरकार को तत्काल इसपर ध्यान देना चाहिए।

यह भी पढ़ें-Punjab Politics: कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य बाजवा बाेले- मैं कैप्टन की दाेस्त Aroosa Alam से कभी नहीं मिला

Edited By: Vipin Kumar