लुधियाना, जेएनएन। सरकार की ओर से जहां कोविड संक्रमण को रोकने के लिए लाॅकडाउन और बाजार बंद करवाए जा रहे हैं, वहीं रेलवे स्टेशन पर यह नियम कायदे तार-तार हो रहे हैं। रेलवे स्टेशन पर इन दिनों कोविड नियमों की जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही है। रेल प्रशासन द्वारा स्टेशन पर पहुंचने वालों के कोविड टेस्ट और रिपोर्ट तो देखी जा रही है, लेकिन स्टेशन परिसर में फिजिकल डिस्टेंसिंग के यात्री बैठे हैं। इनपर न तो जीआरपी और न ही आरपीएफ के कर्मचारी कोई सख्ती बरत रहे हैं।

ऐसे में यह कोविड चेन बनाने के लिए बड़ा हाॅट स्पाॅट बन सकता है। हालांकि इसको लेकर बार- बार माइक से आग्रह किया जा रहा है कि सभी यात्री शारीरिक दूरी बनाकर रखें, लेकिन यात्रियों को किसी का कोई खौफ न होने के चलते वे इसको दरकिनार कर रहे हैं।

दा से तीन घंटे पहले पहुंच रहे यात्री

ट्रेन के लिए इंतजार के लिए यात्री समय से दो तीन घंटे पहले ही रेलवे स्टेशन पर पहुंच रहे हैं और इसको लेकर रेल प्रबंधन भी किसी तरह की कार्रवाई नहीं कर रहा और स्टेशन परिसर में बैठे यात्रियों को दूर दूर बैठाने को लेकर भी असमर्थ है, इससे कोविड संक्रमण तेजी से फैल सकता है।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें