जागरण संवाददाता लुधियाना। पावरकाम के मास्टर रोल पर काम करने वाले मुलाजिमों ने अपनी मांगों को लेकर बुधवार को चीफ इंजीनियर फिरोजपुर रोड स्थित कार्यालय के समक्ष धरना दिया। मुलाजिमों ने मांग की है कि जितने भी कर्मचारी मास्टर रोल पर काम कर रहे हैं उन्हें सरकार पक्का करें। मुलाजिमों ने पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। धरना प्रदर्शन में शामिल जगबीर सिंह अमरजीत सिंह सनी कुमार बलविंदर सिंह ने कहा कि उनकी मांगे काफी समय से खाली पड़ी हुई है इसलिए सरकार इस पर जल्द निर्णय करे।

उन्हाेंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि मांगें नहीं मानी गई तो कच्चे मुलाजिम काम छोड़ मुहिम चलाकर सरकार के खिलाफ संघर्ष जारी रखेंगे। जगबीर सिंह ने कहा कि उनके यूनियन की मांग वर्षों से चली आ रही है और सरकार हर बार उन्हें टाल देती है इसलिए इस बार मुलाजिमों ने फैसला लिया है कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होती तब तक वह प्रदर्शन जारी रखेंगे।

यह भी पढ़ें-काम ठप करके किया विरोध प्रदर्शन

संवाद सहयोगी, जगराओं। विभाग के प्रबंधन और संयुक्त मंच के बीच हुए समझौते के अनुसार, बिजली कर्मचारियों को वेतन पे बैंड का भुगतान और 30 नवंबर तक वेतन जारी न करने की अधिसूचना से बिजली कर्मचारी नाराज हैं और सभी बिजली कर्मचारियों ने विभाग कार्यालय जगराओं के गेट के सामने धरना दिया। इस अवसर पर बोलते हुए बिजली कर्मचारियों के नेताओं ने कहा कि पावरकॉम प्रबंधन द्वारा 1 दिसंबर 2011 से बिजली कर्मचारियों को वेतन पे बैंड जारी नहीं किया जा रहा था और कभी-कभार संघर्ष के दौरान, पावरकॉम प्रबंधन ने बात चीत भी की।

इससे पहले 26 अक्टूबर 2021 को चंडीगढ़ में संयुक्त फोरम के साथ हुए समझौते में प्रबंधन ने सहमति जताई थी कि 10 नवंबर 2021 तक पे बैंड अधिसूचना जारी कर दी जाएगी, जो नहीं किया गया। जिस पर पंजाब भर के सभी बिजली कर्मचारी 15 नवंबर से सामूहिक अवकाश पर चले गए थे।

Edited By: Vipin Kumar