लुधियाना, जेएनएन। पुलिस इन दिनों सड़कों पर भीख मांगने वालों में से क्रिमिनल ढूंढ रही है। इसके लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है। पुलिस एरिया में भीख मांगने वाले लोगों को काबू कर उन्हें पुलिस लाइन लेकर जाती है और वहां उनसे पूछताछ की जाती है। साथ ही उनकी फोटो भी ली जा रही है। यही नहीं उनके द्वारा भिखारियों के पास मौजूद बच्चों संबंधी भी पूछताछ की जा रही है। यह पता लगाने का प्रयास हो रहा है कि कहीं उनकी ओर से भीख मांगने के लिए गोद में उठाए हुए बच्चे अपहरण तो नहीं किए हुए हैं। पुलिस की ओर से यह अभियान दो दिन पहले शुरू किया गया था और अब तक 65 भिखारियों की शिनाख्त की जा चुकी है। पुलिस ने अब तक दुर्गा माता मंदिर, भारत नगर चौक, भाई बाला चौक, रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड के पास भीख मांग रहे पुरुष और महिलाओं को उठाया। पूछताछ में पुलिस को कुछ लीड मिली है।

चोरों, स्नेचरों के छिपने की आसान जगह है भिखारियों के डेरे

शहर में हो रही स्नेचिंग और चोरी की वारदातों के आरोपित रात के समय ऐसे डेरों में छिपते हैं, जहां भिखारी सोए होते हैं। यह लोग दिन में भीख मांगकर शहर की सड़कों के किनारे ही सो जाते हैं और इनमें ही आपराधिक छवि वाले लोग भी छिप जाते हैं, जिनसे माहौल बिगड़ने का खतरा रहता है। यही नहीं भिखारी लाइटों पर रुकने वाली गाड़ियों में भीख मांगते समय सामानों पर निगाह रखते हैं।

भीख मांगना अपराध, पकड़ गया तो होगी सजा

सीपी राकेश अग्रवाल कहना है कि धारा 144 के तहत आदेश जारी करते हुए शहर में भीख मांगने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। आदेश में कहा गया है कि सड़कों पर भीख मांगने वालों के कारण हादसे होने का खतरा बना रहता है। साथ ही अगर कोई व्यक्ति शहर में भीख मांगते हुए पकड़ा गया तो पुलिस उसके खिलाफ 188 आइपीसी के तहत कार्रवाई कर सकती है। इसमें सजा का भी प्रावधान है।

अभियान से होगा क्राइम कंट्रोल में फायदा: एडीसीपी

अभियान शुरू करने से शहर में अपराध पर अंकुश लगाने में सहायता मिलेगी। दूसरा गुमशुदा बच्चे भी मिल सकते हैं। अभियान के तहत अगर कोई भी व्यक्ति या बच्चा भीख मांगते हुए पाया जाए तो वह इस संबंधी पुलिस कंट्रोल रूम पर सूचना दे सकते हैं। पुलिस उससे पूछताछ करेगी। इसके लिए पेशेवरों को भी पकड़ना जरूरी है। दीपक पारीक, एडीसीपी हेडक्वार्टर, लुधियाना।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!