लुधियाना, जेएनएन। नगर निगम ने शहर में टाउन वेंडिंग पाॅलिसी के तहत रेहड़ी फड़ी वालों के लिए 64 स्थान तय किए थे। इन वेंडिंग जोन की बकायदा अधिसूचना भी जारी की गई है। एक साल बीत जाने पर हाल यह है कि 11 हजार रेहड़ी फड़ी वालों का पंजीकरण होने के बावजूद एक को भी जगह अलाट नहीं की गई है। अब भी शहर में रेहडिय़ां सड़कों के किनारे ही लगाई जाती हैं। उन्हें रोजाना निगम व पुलिस की कार्रवाई का सामना करना पड़ रहा है। निगम के अधिकारी रेहड़ी वालों को नोटिफाई किए गए स्थानों पर अस्थायी तौर पर रेहडिय़ां लगाने के लिए कहते हैं। जब वे वहां रेहड़ी लगाते हैं तो स्थानीय नेता व लोग उन्हें वहां रेहड़ी लगाने नहीं देते हैं।

नगर निगम के सर्वे में लुधियाना में 22 हजार रेहड़ी व फड़ी वाले हैं। पिछले साल पुलिस व निगम ने शहर की प्रमुख सड़कों को रेहड़ी फ्री बनाने की मुहिम शुरू की। तब निगम ने रेहड़ी वालों को अस्थायी तौर पर वेंडिंग जोन में जाने के लिए कहा। नोटिफाई किए वेंडिंग जोन में निगम ने कोई सुविधा रेहड़ी फड़ी वालों को उपलब्ध नहीं करवाई जिस कारण यह मुहिम नाकाम हो गई।

अधूरे सर्टिफिकेट जारी कर रहा निगम

रेहड़ी फड़ी फेडरेशन के प्रमुख टाइगर सिंह का कहना है कि नगर निगम के अधिकारी खोखले वादे कर रहे हैं। अब तक इस दिशा में कोई काम नहीं किया गया। पंजीकृत वेेंडरों को निगम एक सर्टिफिकेट जारी करता है। यह सर्टिफिकेट अधूरे हैं। न उस पर एरिया लिखा है न रेहड़ी लगाने की जगह बताई गई है। वेंडर के परिवार के सदस्यों के नाम भी इस पर नहीं हैं।

पुराने शहर में वेंडिंग जोन बनाने में दिक्कत आ रही है। वहां जगह ही नहीं है। अधिकतर वेंडिंग जोन सड़क किनारे या पार्कों में बनाए गए हैं इस कारण उन्हें वहां जगह नहीं मिल रही है। मेयर व कमिश्नर से मिलकर इस मामले को जल्द सुलझाया जाएगा।-शाम सुंदर मल्होत्रा, सीनियर डिप्टी मेयर, लुधियाना

Edited By: Vipin Kumar