जागरण संवाददाता, लुधियाना : लुधियाना मैनेजमेंट एसोसिएशन (एलएमए) के बैनर तले मंगलवार की शाम होटल पार्क प्लाजा में सस्टेंनिग ग्रोथ इन क्राइसेस विषय पर सेमिनार का आयोजन किया गया। इसमें मुंबई स्थित टाटा ट्रस्टी एवं टाटा पेंशन के डायरेक्टर नीरज जैन मुख्य वक्ता के तौर पर उपस्थित रहे। नीरज जैन ने लुधियाना के उद्योगपतियों, एग्जिक्यूटिव्स एवं प्रबंधकों को संकट में भी सफलता को कायम रखने के टिप्स दिए। उन्होंने कहा कि बेहतरीन लीडरशिप, सही फैसले लेने की क्षमता, टीम वर्क और सभी को स्थितियों से अवगत करा कर ही संकट को सफलता के साथ पार पाया जा सकता है। संकट के दौरान संयम आवश्यक है। संयम से लिए गए फैसले हर तरह की बाधा को पार कर सकते हैं। जैन ने कार्यक्रम के दौरान एलएमए सदस्यों के सवालों के जवाब देकर उनकी जिज्ञासा को भी शांत किया।

जैन ने कहा कि उद्योग में वित्तीय संकट, मार्केट शिफ्ट होने से संकट, इनोवेशन, टेक्नोलाजी में बदलाव, रेगुलेटरी संकट समेत कई तरह के संकट हो सकते हैं, लेकिन इनसे निपटने के लिए सही प्लानिग अनिवार्य है। जैन ने कहा कि कुछ साल पहले सरकार ने दिल में लगने वाले स्टेंट की कीमत को तय कर दिया। तब एक ही दिन में कंपनियों की प्राफिटेबिलिटी में 83 प्रतिशत की गिरावट आ गई। साफ है कि कंपनियों के लिए यह बड़ा संकट था। इसी तरह जब टेक्नोलाजी बदलती है तो उससे कदमताल न मिलाने पर भी संकट पैदा होता है। कई कंपनियां ऐसे में भी बाजार से आउट हो गईं। ऐसे में साफ है कि कारोबार करते हुए कारोबार की नब्ज को पहचान कर फैसले करना, वक्त के अनुसार खुद को बदलना, बेहतर फंड प्रबंधन करने एवं वक्त वक्त पर इनोवेशन करने से ही संकट के दौरान भी सफलता को कायम रखा जा सकता है। इस अवसर पर ड्यूक फैशन्स इंडिया लिमिटेड के चेयरमैन कोमल कुमार जैन, नेवा गारमेंट्स लिमिटेड के चेयरमैन निर्मल कुमार जैन समेत कई एलएमए सदस्य मौजूद रहे।

Edited By: Jagran