संवाद सहयोगी, श्री माछीवाड़ा साहिब : बीती 8 सितंबर को मेहरबान चुंगी के नजदीक गली नं. 5 के रहने वाले गुरमेल सिंह ने सतलुज दरिया में छलाग लगाकर खुदकशी कर ली थी। उसकी लाश मंगलवार को दरिया से मिल गई है। पुलिस ने मृतक के पिता के बयानों पर उसकी पत्नी के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने की धाराओं के अंतर्गत मामला दर्ज कर लिया है।

मृतक के पिता बलदेव सिंह ने थाना कूमकला में बयान दर्ज करवाए हैं कि उसके छोटे बेटे गुरमेल सिंह का विवाह 2007 में हुआ था। पहली पत्नी से उसका तलाक हो गया था। 2011 में उसका दूसरा विवाह संदीप कौर निवासी कडियाना खुर्द के साथ हुआ। बलदेव के अनुसार उसके पुत्र गुरमेल सिंह का दूसरी पत्नी से तकरार रहने लगा। बीती 8 सितंबर की शाम को उसके बेटे गुरमेल का फोन आया कि वह बहुत परेशान है। उसका नाक कट गया। वह किसी को मुंह दिखाने लायक नहीं रहा इसलिए वह अब नहीं बचेगा। पिता गुरमेल ने ने कहा कि उनके लड़के के आखिरी शब्द यह भी थे कि उसके मरने के बाद उसका 6 वर्षीय बेटा पत्नी को नहीं देना और उसका ख्याल रखना। उसके बाद गुरमेल का फोन बंद हो गया। बलदेव के अनुसार हम अपने पुत्र की तलाश करते हुए सतलुज दरिया के पुल निकट गांव घुमाना के पास पहुंचे तो वहा बांध पर उसके बेटे की स्कूटरी, चप्पलें और अन्य समान भी पड़ा था। आज गांव सत्यिाना के नजदीक सतलुज में से उसकी लाश बरामद हो गई। ब्यानकर्ता के अनुसार उसके बेटे गुरमेल ने अपनी पत्नी से दुखी होकर दरिया में छलाग लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त की है। इस पर पुलिस ने संदीप कौर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने मृतक गुरमेल की लाश का पोस्टमार्टम करवाने के बाद वारिसों को सौंप दी है।

Posted By: Jagran