जागरण संवाददाता, खन्ना : पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू के साथ साए की तरह रहने वाले और जाट महासभा के प्रदेश उप प्रधान अमरिदर सिंह ढींडसा मिदी ने आखिर कांग्रेस को अलविदा कह दिया है। वे शुक्रवार की देर शाम पंजाब लोक कांग्रेस में शामिल हो गए। कैप्टन अमरिदर सिंह के सिसवा फार्म हाऊस में मिदी ने उनसे मुलाकात की और पार्टी की सदस्यता ली। खन्ना में कांग्रेस के लिए यह बड़ा झटका माना जा सकता है।

मिदी ने कुछ दिन पहले भी खन्ना से उम्मीदवार और कैबिनेट मंत्री गुरकीरत सिंह कोटली को टिकट देने का विरोध जताते हुए खन्ना के कांग्रेसी नेताओं पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। मिदी ने कहा था कि खन्ना में नकली शराब की फैक्ट्री चलाकर लोगों की जान को खतरा डाला गया। साथ ही अनाज मंडी के आढ़तियों की लूट फसल की लोडिग के नाम पर की गई। मिदी ने शनिवार को फिर से ये सभी आरोप दोहराते हुए कहा कि वे लोगों के सामने ये सब बातें चुनाव में लेकर जाएंगे।

मिदी ने कहा कि सिद्धू से उनका अभी भी कोई वैर नहीं लेकिन वे टिकटों के बंटवारे से खुश नहीं हैं। अगर दोबारा पंजाब में भ्रष्ट लोगों को टिकटें देनी थी तो पंजाब माडल कैसे कामयाब होगा। वे सिद्धू के साथ रहें और खन्ना में कांग्रेस का विरोध करें, यह ठीक नहीं। वे गद्दार नहीं कहलाना चाहते इसलिए कांग्रेस को छोड़ना ठीक समझा। उनके साथ गुरप्रीत सिंह मांगट भी मौजूद थे।

Edited By: Jagran