जागरण संवाददाता, लुधियाना : जिले में तीन स्थानों पर शुरू हुए रोजगार मेले के पहले दिन युवाओं में उत्साह कम दिखा। गिल रोड स्थित आइटीआइ में कैबिनेट मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने मेले का उद्घाटन किया। पहले दिन जहां कंपनियों की संख्या कम रही, वहीं युवाओं में भी कोई खास उत्साह देखने को नहीं मिला। जॉब फेयर में 7200 से 15 हजार रुपये तक की नौकरी दी जा रही है। ज्यादातर नौकरियों में आइटीआइ और डिप्लोमा होल्डर्स की मांग है, लेकिन कई पोस्ट पर बीटेक किए हुए इंजीनियरिंग छात्रों ने अप्लाई किया है। इंडस्ट्री में ज्यादातर डिमांड हेल्पर, वेल्डर, फेब्रीकेशन फिटर की है। बता दें कि कंपनियों को भी ट्रेंड वर्कर तलाशने में कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। ज्ञात हो कि पंजाब सरकार ने युवाओं को रोजगार के अवसर मुहैया करवाने के लिए जॉब फेयर आयोजित किए हैं। तीन स्थानों पर आयोजित यह जॉब फेयर चार दिन तक चलेगा। इसमें 866 कंपनियों की तरफ से 76166 नौजवानों को नौकरी देने का लक्ष्य है। इसके लिए ऑनलाइन पोर्टल के जरिए 35 हजार से अधिक युवाओं ने रजिस्ट्रेशन करवाई है। इंडस्ट्री को है 65 हजार वर्करों की जरूरत

सरकारी आइटीआइ (लड़के) लुधियाना, सरकारी टैक्सटाइल केमिस्ट्री एंड निंटिंग एकेडमी ऋषि नगर, गुरु नानक देव पॉलिटेक्निक गिल रोड लुधियाना में लगाया गया है। सरकार का दावा है कि शहर से संबंधित औद्योगिक इकाइयों को ही 65 हजार से और ज्यादा कामगारों की जरूरत है। लुधियाना में पहुंचने वाली ज्यादातर कंपनियां अंतरराष्ट्रीय स्तर की हैं, जहां नौजवान अच्छे पैकेज भी प्राप्त कर सकेंगे। फोकल प्वाइंट इंडस्ट्रीयल एसोसिएशन को ही चाहिए 3 हजार युवा

फोकल प्वाइंट इंडस्ट्रियल एसोसिएशन ने तीन हजार युवाओं की डिमांड रखी है। इसमें अनस्किल्ड वर्करों को ट्रेनिंग देकर इंडस्ट्री लायक बनाया जाएगा। आठ से नौ हजार रुपये वेतन दिया जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!