जागरण संवाददाता, लुधियाना। पंजाब पुलिस के रिटायर्ड डीजीपी व कांग्रेस के पंजाब प्रधान नवजोत सिद्धू के सलाहकार मोहम्मद मुस्तफा के बयान वाले वीडियो से हिंदू संगठनों में भारी रोष है। हिंदू संगठनों ने साफ कर दिया कि इस तरह के बयान देकर हिंदुओं को उकसाया न जाए। शिव सेना बाल ठाकरे, हिन्दू न्याय पीठ समेत अलग-अलग संगठनों ने इसे सामाजिक एकता को खत्म करने वाला बयान बताया। शिव सेना (बाल ठाकरे) के पंजाब प्रधान योगराज शर्मा के दिशा निर्देश पर पार्टी के राज्य प्रवक्ता चन्द्रकान्त चड्ढा ने प्रेस को जारी बयान में मोहम्मद मुस्तफा द्वारा हिंदुओं को धमकाने व उकसाने की टिप्पणियों की सख्त निंदा की है।

चन्द्रकान्त चड्ढा ने कहा कि डीजीपी पंजाब से नकारे गए मुस्तफ़ा अपना मानसिक संतुलन खो चुके है व उन्हें किसी अच्छे डॉक्टर के इलाज की सख्त जरूरत है। चड्ढा ने कहा कि पंजाब गुरुओं एवं पीरों की धरती है व सभी धर्मों के लोग आपस मे मिल-जुलकर रहते है किंतु मुस्तफा जैसे लोगों द्वारा जानबूझकर ऐसी भड़काऊ बयानबाजी करके हिंदू समाज का इम्तिहान लेने का जो षड्यंत्र रचा गया है वह पहले से ही एक दशक तक काले दौर का संताप भुगत चुके पंजाब के लिए घातक सिद्ध हो सकता है।

चड्ढा ने मुस्तफा के बयान पर उन्हें नसीहत देते हुए कहा कि ऐसे बयान देकर हिंदुओं को उकसाने का प्रयास न ही किया जाए तो बेहतर है। हिंदू न्याय पीठ के प्रवीण डंग का कहना है कि मुस्तफा को तुरंत गिरफ्तार किया जाय और उनके खिलाफ धार्मिक सद्भावना को नुकसान पहुंचाने का मामला दर्ज किया जाय। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के प्रधान इस मुद्दे पर खामोश हैं। उन्होंने कहा कि सरकार इस पर गंभीरता से नोटिस ले। उधर भाजपा नेताओं ने भी इस बयान पर आपत्ति दर्ज की है और इसे कांग्रेस की मानसिकता बताया है।

यह भी पढ़ें-सिद्धू के रणनीतिक सलाहकार मुस्तफा की धमकी, हिंदुओं को जलसे की इजाजत दी तो गंभीर हालात पैदा कर दूंगा

Edited By: Vipin Kumar