लुधियाना, जेएनएन। कोरोना टीकाकरण के तीसरे चरण की शुरुआत में आम लोगों ने वैक्सीन पर पूरा भरोसा जताया है। दूसरे दिन 60 साल से अधिक उम्र व 45 साल से अधिक उम्र के गंभीर बीमारियों से पीड़ित 897 लोगों ने वैक्सीन की पहली डोज लगवाई। मंगलवार को 28 सेशन साइट्स पर टीकाकरण अभियान चला।

बुजुर्गों को वैक्सीन का खूब आशीर्वाद मिला। 60 साल से अधिक उम्र के 619 लोग वैक्सीन लगवाने के लिए अस्पतालों में पहुंचे। 45 से 59 साल तक गंभीर वाली बीमारी से जूझ रहे 278 लोगों ने भी टीका लगवाया। मंगलवार को जिले में कुल 1757 लोगों को वैक्सीन लगाई गई। इसमें 328 हेल्थ केयर वर्कर्स ने पहली डोज, 383 ने दूसरी डोज लगवाई। 149 फ्रंटलाइन वर्कर्स ने वैक्सीन की पहली डोज लगवाई।

श्रेणी                         संख्या

60 साल से अधिक उम्र        619

45 से 59 साल तक उम्र        278

हेल्थ केयर वर्कर्स(पहली डोज) 328

हेल्थ केयर वर्कर्स(दूसरी डोज) 383

फ्रंटालाइन वर्कर्स(पहली डोज) 149

कुल वैक्सीनेशन               1757

सर्वर ने फिर छोड़ा साथ :

सिविल अस्पताल में तीसरे चरण के टीकाकरण में दूसरे दिन भी सर्वर हांफ गया। मंगलवार दोपहर 12 बजे तक दिक्कत बनी रही। कई बार स्पीड कम होने के कारण प्रक्रिया बहुत धीमी रही। सुबह के तीन घंटे में मात्र तीन एंट्री ही हो पाईं। इसे बाद पोर्टल ने काम करना शुरू किया, जिसके बाद चार कंप्यूटरों की मदद से अगले तीन घंटे में 104 लोगों को वैक्सीन लगाई गई। एसएमओ सिविल अस्पताल अमरजीत कौर का कहना है कि सर्वर डाउन होने के कारण मुलाजिमों को पोर्टल में जानकारी अपलोड करने में काफी दिक्कत आई।

एडीसी ने लगवाई वैक्सीन

एडीसी नीरू कत्याल ने भी कोरोना वैक्सीन की पहली डोज डीएमसी अस्पताल में मंगलवार को लगवाई।

सैंपलिंग बढ़ोन पर दिया जोर :

कोरोना संक्रमण के बढ़ते केसों को लेकर सिविल सर्जन डा. सुखजीवन कक्कड़, सिविल सर्जन कोविड-19 डा. किरण आहलूवालिया ने सभी एसएमओ के साथ बैठक की। इसमें तय किया गया कि सैंपलिंग बढ़ाई जाए और कांटेक्ट ट्रेसिंग पर जोर दिया जाए।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप