लुधियाना, जेएनएन। रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स (आरपीएफ) लुधियाना में तैनात 49 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव जवान पवन कुमार की वीरवार को सीएमसी अस्पताल में मौत हो गई। इसके अलावा जिले में वीरवार को कोरोना पॉजिटिव के तीन मामले सामने आए। इनमें जगराओं के गांव मल्ला की 59 महिला, ऋषि नगर का 27 वर्षीय युवक और अमृतसर की महिला शामिल है। इसमें सिर्फ दो मामले ही जिले के आंकड़ों में दर्ज किए जाएंगे। जिले में कुल 181 कोरोना पॉजिटिव मामले हो गए हैं। इनमें से सिर्फ 30 ही एक्टिव केस हैं और इन मरीजों को इलाज जारी है।

आरपीएफ जवान का अंतिम संस्कार ढोलेवाल के श्मशानघाट में गैस चैंबर शवदाह गृह में देर शाम को किया गया। इस मौके पर आरपीएफ जवानों ने उन्हें सलामी दी। इस दौरान मृतक जवान के बेटे सहित परिवार के सदस्य उपस्थित रहे। बेटे चंद्र देव ने पिता की पार्थिव देह को मुखाग्नि दी। पवन कुमार मूल रूप से जालंधर के करोल बाग के रहने वाले थे। इसलिए उनको यहां के रिकॉर्ड में नहीं बल्कि जालंधर के सेहत विभाग की तरफ से रिकॉर्ड में दर्ज किया जाएगा।

अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार इस जवान को दिल का दौरा पड़ा। यह जवान 18 मई को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। सिविल सर्जन डॉ. राजेश बग्गा ने बताया कि 18 मई की रात्रि को यह जवान पवन कुमार कोरोना पॉजिटिव आया था। 19 मई को उसे मदर एंड चाइल्ड अस्पताल में भर्ती करवाया गया था और 22 मई को सेहत बिगड़ने पर सीएमसीएच में रेफर किया गया था। अस्पताल की एसएमओ डॉ. अमिता जैन के अनुसार जिस दिन जवान को अस्पताल में रेफर किया था, उस दिन शुगर लेवल काफी अधिक था। उन्हें 21 मई की रात को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी और ऑक्सीजन लेवल भी कम था।

सीएमसीएच के मेडिकल सुपरिंटेंडेंट डॉ. अनिल लूथर के अनुसार 22 मई को जब यह जवान रेफर होकर आया तो उसे कोविड, निमोनिया, बुखार व सांस लेने में तकलीफ थी। वह हाई फ्लो ऑक्सीजन पर था। एंटी बायोटिक देने के बावजूद भी उसका बुखार और टीएलसी काउंट लगातार बढ़ रहा था। उसे नॉन इनवेंसिव वेंटिलेटर पर रखा गया, लेकिन तब भी उसे बुखार व सांस लेने में तकलीफ रही। फिर उसे मैकेनिकल वेंटिलेटर पर रखा गया। दोपहर साढ़े बारह बजे उसे दिल का दौरा पड़ा। दोपहर दो बजकर पांच मिनट पर मरीज को मृत घोषित कर दिया गया। वहीं ढोलेवाल में रत को उनका अंतिम संस्कार किया गया।

नागपुर में रहती बहन के घर से लौटी है महिला

जिले में वीरवार को कोरोना पॉजिटिव आए लोगों में जगराओं के गांव मल्ला की 59 वर्षीय महिला 18 मार्च को नागपुर में रहती अपनी बहन के घर के मुहूर्त में गई थी। 24 मई को वह ट्रेन में शहर लौटी थी। उसके बाद से गांव में ही रह रही थी। महिला को सिविल अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है। साथ ही परिवार के सदस्यों को भी भर्ती करवाया गया। सेहत विभाग अब महिला के संपर्क में आए लोगों की तलाश कर उन सभी के सैंपल भी लेगा।

ऋषि नगर का युवक मुंबई में करता है नौकरी, वहीं से लौटा

ऋषि नगर का रहने वाला 27 वर्षीय युवक मुंबर्ई में किसी कंपनी में काम करता है। दो दिन पहले फ्लाइट से मुंबई से मोहाली आया। चंडीगढ़ में उसके सैंपल लिए गए और पीजीआइ जांच को भेजे गए। वीरवार को युवक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई। यहां के सेहत विभाग ने जानकारी मिलते ही युवक को मदर एंड चाइल्ड अस्पताल में भर्ती करवाया। लेकिन युवक ने सरकारी अस्पताल में इलाज करवाने से इंकार कर दिया और अपनी मर्जी से फोर्टिस अस्पताल में भर्ती हो गया।

अमृतसर की रहने वाली 72 वर्षीय महिला भी कोरोना वायरस की चपेट में आई है। महिला डीएमसीएच में चेकअप के लिए आई थी। उसे डायबिटीज, हाइपरटेंशन व किडनी से संबंधित बीमारी है। डीएमसीएच में सैंपल लिया गया और वीरवार को महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई। सिविल सर्जन का कहना है कि जगराओं व ऋषि नगर के पॉजिटिव मरीज जिले में कोरोना की चपेट में नहीं आए थे, बल्कि दूसरे राज्यों से संक्रमित होकर आए है। इसलिए इन्हें जिले के पॉजिटिव मरीजों में नहीं गिना जाएगा।

जिले में अब तक कोरोना से हुई मौतें

  • 30 मार्च को अमरपुरा की 42 वर्षीय महिला
  • 5 अप्रैल को शिमलापुरी की 69 वर्षीय महिला
  • 17 अप्रैल को पायल के 58 वर्षीय कानूनगो
  • 18 अप्रैल को 52 वर्षीय एसीपी
  • 3 मई को बस्ती जोधेवाल की 62 वर्षीय महिला
  • 9 मई को जगराओं के गांव माणूके का 59 वर्षीय बुजुर्ग
  • 17 मई को बड़ी हैबोवाल का छह साल का बच्चा

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Sat Paul

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!