जगराओं, जेएनएन। खेती सुधार बिल रद्द करवाने के लिए पंजाब की जुझारू किसान-मजदूर जत्थेबंदियों की ओर से 25 सितंबर के पंजाब बंद के निमंत्रण को आम जनता की ओर से भरपूर समर्थन मिल रहा है। इस संबंधी किरती किसान यूनियन की अोर से इलाके के गांवों में केंद्र की फांसीवादी मोदी सरकार खिलाफ अर्थी फूक रोष किए जा रहे है। इस प्रोग्राम तहत आज जत्थेबंदी की ओर से गांव रसूलपुर में मोदी सरकार की अर्थी फूंक कर रोष प्रकट किया।

इस मौके पर किरती किसान यूनियन के गुरचरण सिंह, हरदेव सिंह मोर ग्रामीण मजदूर यूनियन के अवतार सिंह रसूलपुर ने कहा कि खेती सुधार बिल आने से खेतीबाड़ी सेक्टर में कारपोरेट घरानों ,बड़ी कंपनियों व पूंजीपतियों को पंजाब दाखिले की खुल मिल जाएगी। जिससे छोटी व दरमियानी किसानी उक्त अंबानी-अंडानी जैसे पूंजीपतियों का मुकाबला नही कर सकेगी। जिस करके इस वर्ग की किसानी का खात्मा हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि आज खेत व पंजाब बचाने के लिए तीखे संघर्षों की जरूरत है। इस मौके पर उपस्थित किसान मजदूरों ने 25 सितंबर के बंद को हाथ खड़े करके समर्थन दी। इस मौके पर ग्रामीण मजदूर यूनियन के सुखदेव मानूके, अजैब सिंह, कर्म सिंह, किरती किसान यूनियन के करतार सिंह, अवतार सिंह, जीत , गोल्डी, बीरा, हरनेक सिंह फौजी व जीत सिंह, प्रधान जसवंत सिंह पप्पू, जगदीप सिंह, मास्टर बलबीर सिंह आदि उपस्थित सदस्य मौजूद थे।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!