जागरण संवाददाता, जगराओं : आंखे हैं तो जहान है। आंखों की बदौलत हम जिदगी का आंनद ले सकते है। इसलिए हमेशा हमें अपनी आंखों की देखभाल करनी चाहिए। यह कहना है आंख रोग विशेषज्ञ व लुधियाना के पूर्व सिविल सर्जन डा. सुखजीवन कक्कड़ का। वीरवार को विश्व दृष्टि दिवस पर डा. कक्कड़ आइ केयर एंड सर्जकिल सेंटर मोहल्ला हरगोबिदपुरा में कैंप लगाया गया। इसमें डा. सुखजीवन ने लोगों का चेकअप किया। इस बार के विश्व दृष्टि दिवस का थीम है लव योर आइज। उन्होंने कहा कि आंखों की देखभाल तीन बातों पर निर्भर करती है। डाइट यानि हमेशा अपनी खुराक में हरे पत्तेदार सब्जियों व फलों को शामिल करना, रोशनी हमेशा रोशनी वाली जगह में बैठना, कम व मध्यम रोशनी में बैठकर पढ़ने से आंखें खराब होने का खतरा रहता है तीसरा आप किसी पोजिशन में आंखों को रखते है।

डा. सुखजीवन ने कहा कि कोरोना काल में सभी का मोबाइल, लैपटाप पर आनलाइन काम बहुत बढ़ गया है। इससे इन दिनों लगातार आनलाइन काम करने व पढ़ने से आंखों की बीमारियों के केस अधिक आ रहे है। उन्होंने कहा कि हमेशा 20:20:20 का पालन करना चाहिए। हमेशा कंप्यूटर से 20 इंच की दूरी, 20 मिनट लगातार काम करने के बाद 20 सेकेंड की ब्रेक जरूर लेनी चाहिए ताकि हम अपनी आंखों को आराम दे सकें।

ये रखें सावधानी:

- आंखों में कण, लालिमा व खुजली हो तो आंखों को मलना नहीं चाहिए। पानी के छींटे मार लेने चाहिए।

- बिना डाक्टर की सलाह के कोई भी दवा आंख में मत डालें।

- 40 वर्ष की उम्र के बाद आंखों का चेकअप जरूर करवाएं।

- सफेद या काला मोतिया हो तो तुरंत विशेषज्ञ की सलाह लें।

- ब्लड प्रेशर व शुगर के मरीजों को समय-समय पर जांच करवानी चाहिए।

- आंखों को सूखने मत दें। पलकें झपकाते रहें।

Edited By: Jagran