लुधियाना, जेएनएन। Ludhiana Murder Case: आत्म नगर में प्राॅपर्टी विवाद के चलते पत्नी की हत्या करने के आरोपित उद्यमी को थाना माडल टाउन पुलिस ने गिरफ्तार कर सोमवार काे अदालत में पेश किया गया। जहां से 3 दिन का रिमांड हासिल करके कड़ी पूछताछ की जा रही है। इंस्पेक्टर इंद्रजीत सिंह ने बताया कि रविवार 10 बजे पुलिस को सूचना मिली थी कि आरोपित इस समय हंबड़ां रोड स्थित गोबिंद गोधाम में है। गोधाम का ट्रस्टी होेने के कारण वह हर रविवार वहां जाया करता था। सूचना के आधार पर दबिश देकर उसे वहीं से काबू कर लिया गया।

प्राथमिक पूछताछ में आराेपित ने बताया कि उसका पत्नी के साथ विवाद चल रहा था। शुक्रवार सुबह वह चाय पी रहा था, जब वहां आरती के साथ उसकी फिर बहसबाजी हुई। इसके बाद वह बेडरूम में चली गई। वह उसके पीछे बेडरूम में चला गया। वहां आरती ने उसके साथ फिर से बहसबाजी करके उसे उकसा दिया। दोनों के बीच लड़ाई झगड़ा हो गया और उलझ गए।

इसी बीच तैश आ जाने के कारण उसने आरती के बालों में पहने काले रंग के रबड़ बैंड से उसका गला दबा दिया। उसने जब खुद को छुड़ाने के लिए हाथ पैर मारे तो हरमेश ने रबड़ बैंड और अपने हाथों से उसके गले को कस कर दबा दिया। जिससे उसकी मौत हो गई। घटना के बाद वो इधर उधर अपने जानकारों के पास भागता रहा। इंद्रजीत सिंह ने कहा कि रिमांड के दौरान आरोपित से और भी पूछताछ की जाएगी। जिसमें अहम खुलासे हो सकते हैं। बता दें कि आत्म नगर में रहने वाले लोहा उद्यमी हरमेश अरोड़ा ने शुक्रवार सुबह प्राॅपर्टी विवाद में अपनी पत्नी आरती अरोड़ा (47) की गला दबा कर हत्या कर दी थी।

थाना माॅडल टाउन पुलिस ने मृतका के भाई राजन कुंद्रा की शिकायत पर पति हरमेश अरोड़ा, बेटा लवरीश अरोड़ा, बहू शाइना अरोड़ा तथा बेटी रीतिका अरोड़ा के खिलाफ केस दर्ज किया था। मृतका का बड़ा बेटा परवेश अरोड़ा कनाडा में रहता है। हरमेश अरोड़ा की फोकल प्वाइंट में अरोड़ा अलाय लिमिटेड के नाम से लोहे की फर्म है। परिवार के बीच जमीन के लेकर लंबे समय से विवाद चला आ रहा था। आरती का अरोड़ा इंटरनेशनल के नाम से आत्म नगर में ही बूटीक था। उसकी कीमत 3 करोड़ रुपये से ज्यादा है। परिवार के सदस्य उसे बेचने के लिए उस पर दवाब बना रहे थे, जिसके चलते उसे बंद करा दिया गया था।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें