जागरण संवाददाता, लुधियाना : सरकार की ओर से कोरोना काल में जरूरतमंद लोगों को फ्री राशन बांटने का काम जोरों पर है, लेकिन अब राशन लेने वालों की संख्या काफी कम हो गई है। इससे फूड सप्लाई विभाग का राशन वितरण में दम निकल रहा है। विभाग के पास अभी करीब तीन लाख राशन किट बांटने के लिए पड़ी हैं। वहीं जरूरतमंदों का कहना है कि सरकार ने जरूरतमंद लेबर को राशन बांटने के लिए स्कीम को तैयार की, लेकिन समय पर राशन न मिलने से लुधियाना से करीब पांच लाख लोग अपने घर लौट गए।

राशन 15 दिन में खत्म हो जाता है, बाकी 15 दिन क्या खाएं

ग्यासपुरा के अंबेडकर नगर में सरिता देवी, मनजीत कौर, विमल कुमार, अश्वनी व रामपुकार आदि ने कहा कि सरकार दस किलो आटा, एक किलो दाल व एक किलो चीनी देती है, जोकि 15 दिन में खत्म हो जाता है। अगले 15 दिन क्या खाएंगे। सरकार को एक माह के राशन का प्रबंध करना चाहिए। सरकार उन लोगों को दोबारा राशन दे जिन्हें काम नहीं मिला है और परिवार भुखमरी के कगार पर है।

अभी तीन लाख राशन किट पड़ी हैं

जिला फूड सप्लाई विभाग के अनुसार राशन की कमी नहीं है। गरीब परिवार आधार कार्ड नंबर और मोबाइल नंबर लिखवाकर फ्री राशन ले सकते हैं। जिला प्रशासन को पांच लाख 86 हजार राशन किट मिली हैं। अब तक करीब तीन लाख किट बांटी जा चुकी हैं और तीन लाख राशन किट पड़ी हैं। सरकार ने और राशन किट बनाने का निर्देश दिया है, जिस पर काम जारी है। श्रमिक परिवार आधार कार्ड दिखाकर राशन प्राप्त कर रहे है।

आधार कार्ड पर ले सकते हैं राशन : गिल

जिला फूड सप्लाई अधिकारी सुखविदर सिंह गिल ने कहा कि जरूरतमंद परिवारों को सरकार नवंबर तक राशन दे रही है। जरूरतमंद लोग फूड सप्लाई के इंस्पेक्टर या पार्षद से मिलकर आधार कार्ड दिखाकर फ्री राशन ले सकते हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!