लुधियाना, [राजन कैंथ]। शहर में कहीं आग लगने की घटना हो जाए, तो प्रशासन के पास तमाशा देखने के अलावा और कोई रास्ता नहीं होगा। इसका कारण यह है कि फायर ब्रिगेड के पास आग बुझाने के जो संसाधन उपलब्ध हैं, उनसे फायर कर्मी केवल दूसरी मंजिल तक लगी आग को ही बुझा सकते हैं।

शहर में आठ से दस मंजिल ऊंची कॉमर्शियल इमारतें हैं और दो मंजिल से ऊपर किसी इमारत में आग की घटना हो जाए, तो फायर ब्रिगेड के पास वहां तक पहुंचने के लिए हाईड्रोलिक सीढ़ी नहीं है। फायर ब्रिगेड कई सालों से नगर निगम व स्थानीय निकाय विभाग से हाईड्रोलिक सीढ़ी की मांग कर रहा है, लेकिन अभी तक न नगर निगम ने और न ही स्थानीय निकाय विभाग ने फायर ब्रिगेड की सुनी है।

फायर ब्रिगेड के पास 35 फीट की मैनुअल सीढ़ी

फायर ब्रिगेड के पास इस समय केवल 35 फीट की मैनुअल सीढ़ी है, जिसे ऊंची इमारतों पर आग बुझाने के लिए प्रयोग में लाया जाता है। ऊंची इमारतों में आग बुझाने के लिए पर्याप्त साधन न होने पर फायर ब्रिगेड अफसर ने करीब दस साल पहले नगर निगम व स्थानीय निकाय विभाग से हाईड्रोलिक सीढ़ी की मांग करनी शुरू कर दी थी। दस साल बीत जाने के बाद भी हाईड्रोलिक सीढ़ी नहीं मिली। जब फायर ब्रिगेड ने हाईड्रोलिक सीढ़ी की मांग की थी, तब उसकी कीमत करीब 3 करोड़ रुपये थी और अब इस सीढ़ी की कीमत अब 10 करोड़ तक पहुंच गई है।

फिरोजगांधी मार्केट में आग बुझाने के लिए लगे यंत्र जर्जर

फिरोज गांधी मार्केट में दस-दस मंजिल ऊंची कॉमर्शियल इमारतें हैं। यहां भी फायर ब्रिगेड के पास आग बुझाने के लिए पर्याप्त संसाधन नहीं हैं। फिरोज गांधी मार्केट एसोसिएशन के सदस्य इस मामले को हाईकोर्ट में भी उठा चुके हैं। हाईकोर्ट के आदेश के बाद मार्केट में फायर लेन और फायर हाईड्रेंट लगाए गए थे, लेकिन जहां यह हाईड्रेंट लगाए गए थे अब फायर लेन के सिर्फ बोर्ड रह गए हैं और वहां वाहन पार्क किए जा रहे हैं और कुछ हिस्से पर रेहड़ी वालों ने कब्जा किया है। फायर हाईड्रेंट पूरी तरह खराब हो चुके हैं। एसोसिएशन के चेयरमैन कर्नल रिटायर हरजाप सिंह ने बताया कि फिरोज गांधी मार्केट में दस मंजिल तक ऊंची इमारतें हैं और निगम के पास कोई पुख्ता इंतजाम नहीं हैं।

पूरे पंजाब में सिर्फ मोहाली निगम के पास है हाईड्रोलिक सीढ़ी

पंजाब में सिर्फ मोहाली नगर निगम के पास हाइड्रोलिक सीढ़ी है। सूबे में और किसी भी निगम के पास हाईड्रोलिक सीढ़ी नहीं है। मोहाली के अलावा चंडीगढ़ यूटी के पास दो हाईड्रोलिक सीढिय़ां हैं।

फायर ब्रिगेड को अपग्रेड करना मेरी प्राथमिकताओं में है। इस संबंध में राज्य सरकार को पहले भी लिखकर दिया है।

-कंवलप्रीत बराड़, कमिश्नर नगर निगम।

आग की घटना से निपटने में कई फायर कर्मी अपनी जान तक गंवा चुके हैं। जल्द ही फायर ब्रिगेड को अपग्रेड किया जाएगा और हाईड्रोलिक सीढ़ी के लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं।

-बलकार सिंह संधू, मेयर।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!