जासं, लुधियाना : शहर के सबसे व्यस्त बाबा थान सिंह चौक के पास शनिवार दोपहर को दो नशेडि़यों ने कारोबारी नितीश घई की कार को भगाकर उसमें सवार उनके दो बेटों केयूर व आयूर को अगवा करने की कोशिश की। कार में सवार बच्चों और नौकरानी रिकीं के शोर मचाने पर लोगों ने पीछा कर कार को रोककर नशेडि़यों को पकड़ लिया। लोगों ने मौके पर जमकर पिटाई कर फिर दोनों को पुलिस के हवाले कर दिया। थाना डिवीजन नंबर तीन की पुलिस ने जगराओं के रहने वाले बॉबी वाधवा और हरजीत सिंह को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ अपहरण का केस दर्ज किया है।

प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि दोनों युवक नशे के आदी हैं। पुलिस के अनुसार दोपहर करीब 12 बजे बाबा थान सिंह चौक स्थित एक चने भटूरे की दुकान के सामने एंडेवर कार रुकी। कार से कारोबारी नितीश घई की पत्नी गुरमिंदर कौर भटूरे लेने के लिए उतरीं। दो बेटे आठ साल का केयूर, ढाई साल का आयूर और 18 वर्षीय नौकरानी कार में थे इसलिए उन्होंने चाबी कार में लगी रहने दी। इसी बीच दोनों नशेड़ी कार के पास पहुंच गए। एक कार के आगे खड़ा हो गया और दूसरा दरवाजा खोलकर ड्राइविंग सीट पर बैठ गया। उसे देखते ही बच्चों और नौकरानी से शोर मचाना शुरू कर दिया।

नशेड़ी युवक ने इसी बीच कार को स्टार्ट किया और उसे भगाने लगा। गुरमिंदर कौर भी कार के स्टार्ट होने की आवाज सुनकर मदद के लिए शोर मचाने लगीं। इसी बीच कार की पिछली सीट पर बैठी नौकरानी ने ड्राइविंग सीट पर बैठे युवक का गला पीछे से पकड़ लिया। यह देखकर लोग भी शोर मचाने लगे और कार का पीछा करने लगे। इसी बीच पीछे से आए स्कूटी सवार एक व्यक्ति ने अपनी स्कूटी कार के गिरा दी। कार को ब्रेक लगाते ही युवक दरवाजा खोलकर वहां से भागने लगा तो लोगों ने उसे पकड़ लिया। इतने में बाहर कार के साथ-साथ दौड़ रहे उसके दूसरे साथी को भी लोगों ने दबोच लिया। दोनों की मौके पर लोगों ने जमकर पिटाई की।

कपड़ा व्यापारी ने स्कूटी गिरा रोकी कार तो पकड़े गए

शहर के एक कपड़ा कारोबारी परमजीत सिंह ने कार के आगे अपनी स्कूटी गिराकर नशेडि़यों को बच्चों को अगवा करने से रोक दिया। परमजीत कहते हैं कि जब वह वहां से गुजरे तो कार में सवार बच्चे शोर मचा रहे थे। कुछ लोग कार के पीछे भाग रहे थे। उन्हें लगा कि यहां कुछ तो गड़बड़ है। कार को रोकने के लिए उन्होंने तेजी से स्कूटी भगाई और कार के आगे उसे गिरा दिया। इस कारण बदमाशों को कार को ब्रेक लगानी पड़ी और वह पकड़े गए। थाना डिविजन नंबर तीन की प्रभारी मधुवाला का कहना है कि फिलहाल पूछताछ में दोनों आरोपित खुद को नशेड़ी बता रहे हैं। महिला के कार से उतरने के बाद वह कुछ कीमती सामान चोरी करने की नीयत से कार में घुसे थे। बच्चों ने शोर मचाना शुरू कर दिया इसलिए उसने घबराकर कार को भगा दिया।

Edited By: Vipin Kumar