जागरण संवाददाता, लुधियाना। नेश्नल टेस्टिंग एजेंसी( एनटीए) की ओर से आयोजित होने वाले ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन(जेईई) मेन को लेकर विद्यार्थियों का असमंजस तकरीबन डेढ़ महीने बाद भी बरकरार है। विद्यार्थी समझ नहीं पा रहे हैं कि फिलहाल वह बोर्ड परीक्षाओं पर फोकस करें या फिर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी पर, इसका कुछ पता नहीं लग पा रहा है। एनटीए ने अभी तक जेईई मेन के आयोजन संबंधी किसी तरह का नोटिफिकेशन जारी नहीं किया है कि परीक्षा आखिर इस साल कौन से महीने में होगी। चुनावों और कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए एनटीए परीक्षा संबंधी कोई स्पष्टता नहीं दे रहा है।

फिलहाल विद्यार्थियों की डिमांड है कि उन्हें परीक्षा के आयोजन के महीने के बारे पता चल जाए ताकि वह उस मुताबिक शेड्यूल बना पढ़ सकें। दूसरी तरफ सीबीएसई, पीएसईबी ने टर्म टू बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन मार्च-अप्रैल में करने की बात कही है जिससे प्रतियोगी परीक्षा देने वाले विद्यार्थी इस समय उलझे पड़े हैं कि करें तो क्या करें। बता दें कि एनटीए ने पिछले साल कुछ राज्यों में कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए चार अटेंपट में जेईई मेन परीक्षा आयोजित की थी लेकिन इस साल चार अटेंपट दिए जाएंगे या फिर पहले की भांति दो सेशन में परीक्षा होगी, इसके सब अपने-अपने ही कयास लगा रहे हैं। अभी तक कोई आफिशियल नोटिफिकेशन एनटीए ने इस संबंधी जारी नहीं किया है।  

प्लान कैसें करें, नहीं है पता

जेईई मेन के आयोजन को लेकर इस बार किसी तरह की अभी तक स्पष्टता नहीं है। परीक्षा के लिए प्लान कैसे करें, कुछ समझ नहीं आ रहा है। जेईई मेन देरी से होता है तो जेईई एडवांसड के लिए भी गैप कम होगा।

- तानिश गुप्ता, परीक्षार्थी जेईई मेन।

इस समय तक मैं पढ़ने के लिए किसी तरह का प्लान शेड्यूल नहीं कर पा रहा हूं। मुश्किल लग रहा है कि बोर्ड एग्जाम पर फोकस करूं या फिर जेईई मेन पर। एनटीए को जल्द से जल्द परीक्षा के आयोजन संबंधी नोटिफिकेशन जारी करना चाहिए।

- उदय, परीक्षार्थी

Edited By: Vinay Kumar