लुधियाना, जेएनएन। बुड्ढा दरिया के कायाकल्प के लिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने 650 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट को हरी झंडी दे दी है। यह प्रोजेक्ट पहले के प्रोजेक्टों की तरह फेल साबित न हो इसके लिए मेयर बलकार सिंह संधू पहले ही पूरा होमवर्क करना चाहते हैं। मेयर ने एक आठ सदस्यीय कमेटी का गठन कर दिया है जोकि दरिया के कायाकल्प करने के लिए अपने सुझाव देगी।

कमेटी में कैबिनेट मंत्री भारत भूषण आशु समेत तीन अन्य कांग्रेस के विधायकों व चार पार्षदों को शामिल किया गया है। कमेटी में विधायकों व पार्षदों को जगह दी गई है, जिनके हलके व वार्ड के लोग दरिया के किनारे रहकर इसका दंश झेल रहे हैं। कमेटी अब एक सप्ताह तक अपनी रिपोर्ट तैयार करेगी और उसे सुझाव के तौर पर सीएम को भेजा जाएगा।

मुख्यमंत्री की तरफ से दरिया की कायाकल्प के लिए जो योजना तैयार की गई है, उसके हिसाब से यह काम दो चरणों में किया जाना है। पहले चरण में 650 करोड़ रुपये खर्च किए जाने हैं, जिसके तहत सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट अपग्रेड करने के अलावा ताजपुर डेयरी कांप्लेक्स के लिए ईटीपी बनाया जाना है। इसके अलावा क्या-क्या कार्य किए जाने चाहिए इसके लिए मेयर ने आठ सदस्यीय कमेटी बना दी है।

कमेटी में कैबिनेट मंत्री भारत भूषण आशु, विधायक सुरिंदर डावर, राकेश पांडे, संजय तलवाड़ के साथ पार्षद अश्वनी शर्मा, जयप्रकाश, कुलदीप जंडा व राशि अग्रवाल को शामिल किया गया है। मंत्री समेत चारों विधायकों के हलके से होकर बुड्ढा दरिया गुजरता है। इसी तरह जिन चार पार्षदों को शामिल किया गया है उनके वार्ड भी दरिया के किनारे हैं। इसलिए वह बता सकते हैं कि दरिया की सफाई के लिए और क्या-क्या काम करवाए जा सकते हैं। कमेटी के सदस्य इसी सप्ताह दरिया का दौरा करेंगे और उसके बाद एक रिपोर्ट तैयार करेंगे और मुख्यमंत्री को भेजेंगे। कमेटी की रिपोर्ट के बाद सरकार की तरफ से इस प्रोजेक्ट के पहले फेज के कार्याें के लिए टेंडर जारी कर दिया जाएगा।

फेज एक में फंडिंग

राज्य सरकार : 342 करोड़ रुपये

केंद्र सरकार: 208 करोड़ रुपये

प्राइवेट पार्टनर: 100 करोड़ रुपये

फेज दो में फंड

फेज दो में 433 करोड़ रुपये खर्च होने हैं। यह फंड कहां से आएगा अभी इस पर कुछ भी स्पष्ट नहीं है।

दो फेज में होगा बुड्ढा दरिया का कायाकल्प

फेज एक

  • ताजपुर, भट्टियां व बल्लोके में लगे सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांटों को अपग्रेड करना
  • ताजपुर डेयरी कांपलेक्स में डेयरियों के लिए ईटीपी
  • सीईटीपी के काम पूरे करवाकर इंडस्ट्री के कनेक्शन उनके साथ जोडऩा

फेज दो

  • प्रदूषित पानी को साफ करने के बाद उसका दोबारा उपयोग करना
  • बुड्ढा दरिया के किनारे लैंड स्केपिंग व ब्यूटीफिकेशन का काम

माय सिटी माय प्राइड में भी उठा था दरिया का मुद्दा

बुड्ढा दरिया की सफाई का मुद्दा दैनिक जागरण के माय सिटी माय प्राइड में भी उठाया गया था, जिसके बाद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस मुद्दे को गंभीरता से लिया। तब से लगातार सरकार दरिया की सफाई के लिए अलग-अलग प्रोजेक्ट तैयार करवा रही थी। अब मुख्यमंत्री ने 650 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट को हरी झंडी दे दी है।

प्रोजेक्ट में क्या-क्या करवाया जा सकता है इसके लिए आठ सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है। कमेटी में उन विधायकों और पार्षदों को शामिल किया गया है जिनके हलके और वार्ड दरिया के किनारे हैं। उन्हें पता है कि वहां पर किस किस तरह की दिक्कतें हैं।

-बलकार सिंह संधू, मेयर।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sat Paul

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!