जागरण संवाददाता, श्री मुक्तसर साहिब। कंसोर्टियम ऑफ नेशनल लॉ यूनवर्सिटीज की और से कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (Common Law Admission Test CLAT 2021) के परिणाम बुधवार देर रात को घोषित किए गए। इसमें श्री मुक्तसर साहिब के डॉ. मदन मोहन व डॉ. वंदना बांसल के पुत्र मनहर बांसल को ऑल इंडिया में पहला रैंक मिला है। मनहर ने 150 में से 125 अंक प्राप्त किए हैं। क्लैट परीक्षा 23 जुलाई को ऑफलाइन मोड पर हुई थी। परीक्षा की अंतिम आंसर की 27 जुलाई को जारी की गई थी।

आइसीएसई की 10वीं की परीक्षा में भी प्राप्त किए 99.60 फीसद अंक

इससे पहले भी मनहर बांसल 10वीं की आइसीएसई में भी ऐसा ही कारनामा कर चुके हैं। उन्होंने दसवीं की परीक्षा में 500 में से 498 अंक लेकर कीर्तिमान किया था। उन्होंने देशभर में प्रथम स्थान प्राप्त हासिल किया था। 

सिस्टम के खिलाफ लड़ना चाहता है मनहर

मनहर बांसल के माता-पिता जो कि दोनों ही पेशे से डॉक्टर है, लेकिन उनका बेटा इसके उलट आइएएस या ज्यूडिशियल अफसर बनना चाहता है। डॉ. मदन मोहन व डॉ. वंदना बांसल ने बताया कि उनके बेटे की इच्छा है कि वह भ्रष्टाचार तथा खराब सिस्टम को सुधारेे। उन्होंने बताया कि उनका बेटा अनुशासन का पूरा ध्यान रखता है। सुबह सूर्य उगने से पहले उठना, स्वयं ही रैडी होना था, जो भी उसका काम है उसे समय से पहले ही पूरा लेता है।

उन्होंने बताया कि शाम को वह बैडमिंटन खेलता है। उसके बाद घर आकर वह कुछ देर आराम करने के बाद ही अपनी पढ़ाई में लग जाता है। मनहर के माता-पिता ने बताया कि उनके बेटे ने बचपन में ही फैसला कर लिया था कि वह डॉक्टर नहीं बनेगा। मनहर बांसल के माता-पिता ने कहा कि उनको उनके बेटे पर गर्व है। उन्होंने कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद है की उनका बेटा अपना लक्ष्य जरुर प्राप्त करेगा। वहीं शहर के लोगों द्वारा डॉ. मदन मोहन को बधाई देने वालों के लगातार फोन आ रहे हैं।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Edited By: Kamlesh Bhatt