लुधियाना, जेएनएन। साफ सफाई के अभाव से सिविल अस्पताल अकसर चर्चा में रहता है। इस अस्पताल से लेकर मदर एंड चाइल्ड अस्पताल में गंदगी आम देखी जा सकती है जिसकी मरीज शिकायत करते रहते है, लेकिन कभी भी व्यवस्था में बदलाव नहीं आता। वीरवार को अस्पताल की यह अव्यवस्था सिविल सर्जन डॉ. राजेश बग्गा के सामने भी आ गई। जब वह दोपहर तीन बजे लक्ष्य व नेशनल क्वालिटी इंश्योरेंस प्रोजेक्ट के तहत राउंड करने के लिए पहुंचे तो मदर एंड चाइल्ड अस्पताल के लेबर रूम के बाहर बने पार्क व ओटी के पीछे की खाली जगह में गंदगी मिली। यह देखकर वह भड़क गए और मौके पर दोनों एसएमओ के साथ-साथ सफाई का ठेका संभालने वाले ठेकेदार को बुलाया।

उन्होंने ठेकेदार से पूछा कि यहां सफाई क्यों नहीं है जिस पर लापरवाही वाला जवाब देते हुए उसने कहा कि यह हिस्सा अस्पताल के पीछे पड़ जाता है तो कभी-कभी ध्यान नहीं जाता। यह सुनकर सिविल सर्जन और गुस्से में आ गए और बोले कि 'अस्पताल दे पिछले पासे कि पाकिस्तान दा बार्डर आ, जित्थे सफाई नई हो सकदी। पिछला पासा वी ता अस्पताल दे विच ही आउंदा है। सिविल सर्जन की फटकार से ठेकेदार के हाथ पांव फूल गए। सिविल सर्जन ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि बार बार अस्पताल में सफाई व्यवस्था बनाए रखने को लेकर कहा जा रहा है, इसके बाद भी यह हाल है। अब अगर इस तरह की गंदगी अस्पताल में दिखी तो वह कड़ा कदम उठाएंगे।

शौचालयों पर ताला देख कहा- एसएमओ इसे करवाएं ठीक

सिविल सर्जन ने राउंड के दौरान मदर एंड चाइल्ड अस्पताल की ओपीडी के पास बनाए गए शौचालयों को देखा जिसे एक बोर्ड से छुपाया था। शौचालय को सफाई कर्मियों ने वेस्ट सामान, झाड़ू से भरा हुआ था। दो शौचालयों पर ताला जड़ा था। यह देखकर भी सिविल सर्जन काफी गुस्से में आ गए। उन्होंने दोनों एसएमओ को निर्देश दिए कि शौचालयों को ठीक करवाया जाए।

एसएमओ से पूछा, वाटर कूलर के कहां गए नल

सिविल सर्जन जब मदर एंड चाइल्ड अस्पताल के ग्राउंड फ्लोर पर राउंड कर रहे थे तो उनकी नजर वाटर कूलरों पर पड़ी। तीन वाटर कूलरों के नल गायब थे और उस पर टेप चिपकाई हुई थी। तीनों वाटर कूलर खराब थे। सफाई न होने की वजह से बदबू आ रही थी जिस पर सिविल सर्जन ने एसएमओ से पूछा कि वाटर कूलर ठीक क्यों नहीं करवाए गए और यहां सफाई क्यों नहीं है। इस पर एसएमओ ने अपना बचाव करते हुए जवाब दिया कि वाटर कूलर ठीक करवाने के लिए कहा गया है। शुक्रवार तक ठीक हो जाएंगे और सफाई को लेकर भी ध्यान रखा जाएगा।

Posted By: Vikas Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!