जेएनएन, लुधियाना। शिक्षा विभाग छिन जाने से कैबिनेट मंत्री ओपी सोनी बेहद नाराज हैं। उनकी यह नाराजगी लुधियाना के गवर्नमेंट गर्ल्स कॉलेज में आयोजित एजुकेशन एक्सपो में स्पष्ट तौर पर दिखी। पत्रकारों से बातचीत में मंत्री ओपी सोनी ने यहां तक कह डाला कि पंजाब में ब्यूरोक्रेसी हावी है। यह बात उन्होंने खुलकर कही। उनसे सवाल किया गया था कि क्या इस समय मंत्रियों के पर अफसर हावी हो रहे हैं? जिसका जवाब देते हुए कैबिनेट मंत्री ने कहा कि कैप्टन साहब की अगुवाई में पार्टी अच्छा काम कर रही है। पंजाब में बहुत काम भी हो रहा है। लेकिन एक बात खुलकर जरूर कहूंगा कि पंजाब में ब्यूरोक्रेसी हावी है। ब्यूरोक्रेसी के आगे झुकूंगा नहीं। मैं झुकने वाला इंसान नहीं हूं। मैं मेहनत करने वाला इंसान हूं। मैं कुछ करके दिखाने वाला इंसान हूं। मैं न सुरेश कुमार के आगे झुकता हूं, न मैं नमस्ते करता हूं। मैं मंत्री हूं और किसी भी हाल में ब्यूरोक्रसी के आगे घुटने नहीं टेकूंगा। ओपी सोनी यही नहीं रुके। उन्होंने कहा कि गरीब के सामने झुक जाऊंगा, लेकिन ब्यूरोक्रेट्स के आगे नहीं।

जब उनसे विभाग बदले जाने के बारे में सवाल पूछा गया, तो उनके मन की पीड़ा सामने आ गई। उन्होंने कहा कि सीएम साहब की पावर है। जिसे चाहे जहां भेज दें। हालांकि, उन्हें देखना चाहिए था कि काम हुअा या नहीं। खैर, सीएम साहब ने जो किया है, उसमें मेरा भला ही होगा। शिक्षा मंत्री रहते हुए दिन रात एक करके काम किया। उसी का परिणाम रहा कि इस साल सरकारी स्कूलों के परीक्षा परिणाम बेहद शानदार रहे। इस साल सरकारी स्कूलों का रिजल्ट 86 प्रतिशत से अधिक रहा। जबकि जब मैंने पद संभाला था, उस समय सरकारी स्कूलों के रिजल्ट चिंताजनक थे। हर साल सरकारी स्कूलों में पांच से सात प्रतिशत बच्चे कम हो रहे थे और प्राइवेट स्कूलों में जा रहे थे। स्कूलों में शिक्षकों की कमी थी।

उन्होंने कहा कि मेरे आने के बाद सारे स्कूलों में शिक्षा का स्तर उठा। इस बार दूसरे उन्हें फ्रीडम फाइटर, मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च व फूड प्रोसेसिंग जैसे विभाग दिए गए हैं। उसमें भी वह दिन-रात एक करके काम करेंगे। वहीं जब उनसे सिद्दू को लेकर सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा कि सिद्धू उनके बड़े भाई की तरह है। उनके बारे में वह कुछ भी कमेंट्स नहीं करेंगे। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sat Paul

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!