जागरण संवाददाता, लुधियाना : लुधियाना के सेट्र्ल हलके से भाजपा ने गुरदेव शर्मा देबी और पश्चिमी हलके से एडवोकेट बिक्रम सिंह सिद्धू को उम्मीदवार बनाया है। दोनों को यहां से कठिन चुनौती मिलेगी। कारण, देबी का मुकाबला विधायक सुरिंदर डाबर और बिक्रम सिद्धू का मुकाबला मंत्री भारत भूषण आशु से होगा।

लुधियाना सेंट्रल : गुरदेव शर्मा देबी

पेशा: पेंट व्यापारी

टिकट क्यों : पंजाब भाजपा के प्रदेश कोषाध्यक्ष हैं और पिछला चुनाव भी उन्होंने इसी विधान सभा हलके से लड़ा। कोरोना काल में इस हलके में उन्होंने खूब काम किया। प्रदेश प्रधान अश्वनी शर्मा व पूर्व प्रधान विजय सांपला से नजदीकियां।

खासियत: गुरदेव शर्मा देबी पांच साल हलका सेंट्रल में काम करते रहे और कार्यकर्ताओं पर अच्छी पकड़।

कमी: एक चुनाव लड़ा और उसे भी हार गए थे।

राजनीतिक समीकरण: उनका मुकाबला कांग्रेस के मौजूदा विधायक सुरिदर डाबर से हैं। इसके अलावा आप के अशोक पराशर पप्पी भी मैदान में हैं। सेंट्रल हलके में भाजपा का आधार अच्छा है और 2012 में सतपाल गोसाईं को 41.68 और 2017 में गुरदेव शर्मा देबी को 26.87 फीसद वोट मिले थे।

----

लुधियाना वेस्ट : बिक्रम सिंह सिद्धू

पेशा: पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में वकील

टिकट क्यों: पंजाब भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य हैं। दो साल से हलका वेस्ट में लगातार लोगों के बीच काम कर रहे हैं। भाजपा हाईकमान की पसंद हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की योजनाओं को लेकर लोगों के बीच रहे। प्रदेश प्रधान अश्वनी शर्मा के साथ भी अच्छे संबंध हैं।

खासियत: मिलनसार स्वभाव के हैं। वकीलों में अच्छा प्रभाव होने के साथ साथ लंबे समय से स्लम एरिया के उत्थान के लिए काम कर रहे हैं।

कमी: चुनावी राजनीति का अनुभव नहीं है।

राजनीतिक समीकरण: हलका वेस्ट में उनका मुकाबला मौजूदा मंत्री भारत भूषण आशु, अकाली दल के महेश इंद्र सिंह ग्रेवा, एसएसएम के तरुण जैन बावा व आप के गुरप्रीत सिंह गोगी के साथ होगा। पिछली बार इस हलके से कमल चेतली ने चुनाव लड़ा था और तीसरे नंबर पर रहे।

Edited By: Jagran