जासं, बठिंडा। पिछले कुछ महीनों में कई आतंकवादियों और हथियार और गोला-बारूद की बरामदगी के बाद अब विधानसभा चुनाव से पहले बड़े राजनीतिक या धार्मिक नेताओं की हत्या करके पंजाब में दंगे फसाद करवाने की साजिश बेनकाब हुई है। प्रदेश का माहौल खराब करने की साजिश रच रहे गिरोह का बठिंडा पुलिस ने पर्दाफाश किया है। सीआईए वन की टीम ने गिरोह के सरगना समेत 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि गिरोह के 5 सदस्य अभी फरार हैं। पुलिस उनकी तलाश में छापामारी कर रही है। आरोपितों से पुलिस ने .32 बोर का एक पिस्टल भी बरामद किया है। पुलिस ने उन्हें अदालत में प्रस्तुत कर पूछताछ के लिए उनका रिमांड हासिल किया है। 

एसपी (डी) तरूण रत्न ने बताया कि सीआईए वन की टीम को सूचना मिली थी कि आरोपित जगसीर सिंह निवासी बालियांवाली, मनप्रीत सिंह निवासी रामपुरा और कुलविंदर सिंह निवासी ढड्डे ने दंगे करवाने के इरादे से एक गिरोह बनाया है। आरोपित मंडी कलां की अनाज मंडी में मौजूद हैं और किसी धार्मिक अथवा राजनीतिक नेता की साजिश रच रहे हैं। इस पर पुलिस ने छापामारी कर तीनों आरोपितो को गिरफ्तार कर लिया।

धार्मिक नेता को लक्ष्य बनाना था मकसद

प्रारंभिक पूछताछ के बाद पुलिस ने आरोपितों की निशानदेही पर गिरोह के अन्य सदस्यों सुभम निवासी हरदेव नगर बठिंडा, कुलदीप सिंह निवासी चंडीगढ़, सुरिंदर सिंह निवासी लहरा मुहब्बत, सतपाल सिंह निवासी फाजिल्का, मोहम्मद आबिद निवासी मालेरकोटला को भी नामजद कर कुल आठ लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया है। एसपी (डी) तरुण रत्न ने कहा कि इस गिरोह का मकसद प्रदेश में एक धार्मिक नेता को टारगेट कर उसकी हत्या करके राज्य का माहौल खराब करना था।

यह भी पढ़ें - Punjab Politics: नवजोत सिद्धू ने खुद को बताया सीएम चेहरा, कहा- केजरीवाल को पंजाब में नहीं मिल रहा मुख्यमंत्री कैंडिडेट

यह भी पढ़ें - Punjab Assembly Election 2022: पंजाब पहुंचे आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल, पठानकोट में करेंगे 'शिक्षा' पर बात

Edited By: Pankaj Dwivedi