लुधियाना, जेएनएन। दुष्कर्म का केस दर्ज होने के 20 दिन बाद भी जब पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार न किया तो पीड़िता ने जांच अधिकारी को फोन करके गुहार लगाई, मगर दूसरी ओर से एएसआइ ने न केवल उसके साथ गाली-गलौज की, बल्कि उसे केस वापस लेने के लिए धमकाने भी लगा। पीड़िता ने उसके खिलाफ पुलिस कमिश्नर को शिकायत दी है। शिकायत के साथ एएसआइ द्वारा किए गए गाली-गलौज की ऑडियो क्लिप भी सौंपी है। पुलिस कमिश्नर ने मामले की जांच थाना डिवीजन नंबर छह प्रभारी को सौंपी है।

पेट पर लात मार गिराया गर्भ

महिला ने बताया कि वो तलाकशुदा है। होशियारपुर गांव मेखोवाल निवासी करणवीर सिंह ने फेसबुक के माध्यम से उसके साथ संपर्क किया। बाद में दोनों ने पंचकूला के एक मंदिर में शादी की और लुधियाना के निरंकारी मोहल्ले में एक साथ रहने लगे, मगर जब वो गर्भवती हो गई तो आरोपित ने उसके पेट पर लात मार उसका गर्भ गिरा दिया और उसे छोड़ कर फरार हो गया। 27 नवंबर को पुलिस ने उसके खिलाफ केस दर्ज कर लिया। उसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार नहीं किया, जिसके चलते उसने एएसआइ से फोन पर संपर्क किया। एएसआइ ने उसे जहां-जहां बुलाया वो चली गई, मगर वो खुद वहां नहीं पहुंचा। फोन करने पर उसने गाली गलौज की।

पुलिस की रेड से पहले ही आरोपित हुआ फरार

एसएचओ अमरजीत सिंह ने कहा कि मामले की शिकायत तथा ऑडियो क्लिप उन्हें मिल गई है। वो खुद मामले की जांच कर रहे हैं। जांच के बाद जो भी रिपोर्ट होगी वो पुलिस कमिश्नर ऑफिस भेज दी जाएगी। आरोपित को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की टीम को रेड करने भेजा था। मगर वो फरार हो गया। जल्दी ही उसे काबू कर लिया जाएगा।

 

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Vikas Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!