जागरण संवाददाता, लुधियाना। Amritsar IED Blast Case: क्राइम इन्वेस्टीगेशन एजेंसी (सीआइए-2)  पुलिस ने लुधियाना के दुगरी से फगवाड़ा के एक युवक को गिरफ्तार किया है। युवक पर अमृतसर में सब इंसपेक्टर की गाड़ी के नीचे आइईडी फिट करने के मुख्य आरोपित युवराज सभरवाल को मोबाइल और छिपने के लिए जगह मुहैया करवाने के आरोप हैं। पुलिस ने उसे सोमवार को काबू किया है और उससे पूछताछ की जा रही । आरोपित की शिनाख्त अवि सेठी निवासी फगवाड़ा के तौर पर हुई है।

पंजाब स्टेट पावर कार्पोरेशन का मुलाजिम है आराेपित

जानकारी देते हुए सीआइए 2 प्रभारी इंस्पेक्टर बेअंत जुनेजा ने बताया कि फगवाड़ा के रहने वाले अवी सेठी को दुगरी से काबू किया गया है। वह युवराज सभ्रवाल के चचेरे भाई विवेक कुमार का दोस्त है। उसने विवेक के कहने पर युवराज सभ्रवाल को मोबाइल फोन मुहैया करवाने के साथ साथ उसे पंजाब के अलग-अलग एरिया में छिपने के लिए जगह मुहैया करवाई थी। वह पंजाब स्टेट पावर कार्पोरेशन का कर्मचारी है और उसकी ड्यूटी कंपलेंट सेंटर में कंप्लेट सुनने की थी। उसे अदालत में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया गया है। पंजाब में पिछले कुछ दिनाें से इस तरह के कई मामले सामने आ चुके हैं।

यह था मामला

अमृतसर के पाश रंजीत एवेन्यू क्षेत्र में सोमवार की रात लगभग 2 बजे सीआइए स्टाफ में तैनात एसआइ दिलबाग सिंह की कार में उनके क्लीनर मंगा को बाइक पर आए दो संदिग्ध युवक कुछ लगाते नजर आए थे। उसने एसआइ दिलबाग सिंह को बताया तो उन्होंने पुलिस बुला ली। इसके बाद जांच में पता चला कि कार के नीचे आईईडी लगाई गई थी। दोनों संदिग्ध युवकों की सीसीटीवी फुटेज भी मिली है जिसमें वह मुंह ढंके हुए कार में IED फिट करते दिख रहे हैं। बरामद की गई आईईडी के तार सीमा पार से जुड़े मिले हैं। एडीजीपी ने आईईडी का वजन 2 किलो 700 ग्राम बताया है और इसमें लगभग 2 किलो आरडीएक्स था।

Edited By: Vipin Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट