जासं, जगराओं :

प्राचीन भद्रकाली मंदिर के नजदीक दशहरा ग्राउंड को गंदगी के डंप में बदलने वाली नगर काउंसिल जगराओं को आखिरकार हाईकोर्ट के आदेशों का पालन करना पड़ा। कानून के डर से नगर काउंसिल की टीम दशहरा ग्रांउड से कूड़े के डंप को उठाना पड़ा।

लुधियाना की 19 वर्षीय समाज सेविका जाह्नवी बहल व भद्रकाली मंदिर ट्रस्ट के पराशर देव शर्मा सहित जत्थेबंदियों ने गत डेढ़ साल से दशहरा ग्राउंड में बनाए गए डंप का विरोध कर रहे हैं। डंप हटवाने के लिए स्वयंसेवी संस्थाओं ने गंदगी के ढेर पर बैठकर योग करने, धरना प्रदर्शन के साथ-साथ मरण व्रत तक रखा था। लेकिन इसका कोई हल नहीं निकाला। इसके बाद शहर की 19 वर्षीय जाह्नवी बहल ने जनहित में हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया। इसके बाद हाई कोर्ट ने नगर काउंसिल को दशहरा मैदान से गंदगी के ढेर उठाने के निर्देश दिए। लेकन, नगर काउंसिल ने हाई कोर्ट के निर्देशों को ठेंगा दिखाते हुए दशहरा ग्राउंड में कूड़ा फेंकना जारी रखा। जिस पर विभिन्न संस्थाओं ने नगर काउंसिल की मनमानी के खिलाफ हाई कोर्ट में दोबारा अपील दायर की। जिसका परिणाम यह हुआ कि शनिवार 14 दिसंबर को नगर काउंसिल जगराओं की टीम ने भद्रकाली मंदिर समीप बनाए मुख्य डंप में से गंदगी को उठाने के लिए जेसीबी मशीन लगा दी गई है।

इंस्पेक्टर अनिल कुमार ने बताया कि जल्द ही यहां से कूड़ा व गंदगी को हटा दिया जाएगा। इस संबंध में नगर काउंसिल के ईओ सुखदेव सिंह रंधावा ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान को ध्यान में रखते हुए इस जगह को साफ सुथरा बनाने की कोशिश शुरू हो गई है। उन्होंने बताया कि यहां से जो कूड़ा उठाने वाला होगा उसको जेसीबी मशीन से उठा दिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!