जासं, लुधियाना: पंजाब के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी (विकास) अनिरुद्ध तिवारी ने वीरवार को पीएयू का दौरा किया। उन्होंने विभिन्न विभागों की ओर से पिछले दस साल में किए विकास कार्यो को दर्शाते हुए प्रदर्शनी भी देखी। इसमें फल, सब्जी, दाल, मक्की, चारा, गेहू, धान, काटन की नई किस्मों के बारे में जानकारी हासिल की।

इसके अलावा यहां प्राकृतिक स्त्रोत प्रबंधन, फार्म पावर मशीनरी, फसलों की वेस्टेज के प्रबंधन, भोजन की प्रोसेसिग एवं तकनीक, गृह विज्ञान, प्रसार शिक्षा के साथ-साथ पीएयू के खेती माहिरों की ओर से प्रदर्शनी में उत्पाद प्रदर्शित किए गए। तिवारी ने पीएयू के अनुसंधान, प्रसार एवं अध्ययन की गतिविधियों की जानकारी हासिल की। उन्होंने माहिरों को किसानों एवं कृषि की बेहतरी के लिए काम करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने बदल रहे मौसमी चक्र के अनुसार नई किस्मों के विकास के लिए काम करने को प्रेरित किया। इसके अलावा भोजन प्रोसेसिग एवं मशीनरी को नए खेती युग का रास्ता बताते हुए उन्होंने किसानों की आमदनी को बढ़ाने के मकसद को सर्वोपरि रखने की बात की। तिवारी ने पीएयू के कृषि साहित्य में भी दिलचस्पी दिखाते हुए इसे किसानों के लिए हितकारी बताया।

पीएयू के वाइस चांसलर डा. बलदेव सिंह ढिल्लों ने पिछले सालों के दौरान अनुसंधान, अध्यापन, प्रसार गतिविधियों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पीएयू ने किसानों को वैज्ञानिक खेती से किसानों को जोड़ने का लक्ष्य तय किया है। तिवारी ने मधुमक्खी पालन, मशरूम की खेती, बायो टेक्नोलाजी, सुरक्षित खेती, खेती मशीनरी, सोलर ऊर्जा वाले ड्रायर इत्यादि के बारे में भी बताया। इस अवसर पर निदेशक खोज, ड. नवतेज सिंह बैंस, डा. राजिदर सिंह, डा. जसकरण सिंह, डा. गुरिदर कौर, डा. तेजिदर सिंह, डा. केएस थिड, डा. अशोक कुमार समेत कई माहिर मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021