जासं, लुधियाना : सरकारी प्राइमरी स्कूल चन्नण देवी में मंगलवार को ब्लॉक प्राइमरी अफसर लुधियाना-2 भूपिदर कौर और दरेसी थाने के एएसआइ ओम प्रकाश जांच के लिए स्कूल पहुंचे।

स्कूल की कक्षा पांचवीं की इंचार्ज मोनिका पर कक्षा के बच्चों को अपशब्द बोलने और मार-पिटाई करने का आरोप है। कक्षा के छात्र युवराज की कुछ दिन पहले अध्यापिका ने पिटाई की थी। इस पर सोमवार को युवराज और अध्यापिका मोनिका के अभिभावकों के बीच काफी बहस हुई। मंगलवार को स्कूल में अध्यापिका मोनिका रूटीन की तरह उपस्थित हुई। बीपीओ ने स्कूल की हेड टीचर जसविदर कौर से पहले पूछताछ की। फिर सोमवार को स्कूल में क्या-क्या हुआ, इसके बारे में लिखित लिया। इसके बाद युवराज के अभिभावकों को फोन कर स्कूल आने के बारे में सूचित किया तो पता चला कि उसके अभिभावक शहर में नहीं हैं और किसी काम से गए हुए हैं। कुछ समय बाद अध्यापिका मोनिका से युवराज के अभिभावक की ओर से लगाए गए आरोपों के बारे में पूछताछ की गई। इस पर अध्यापिका मोनिका ने बच्चों को मारने, अशब्द बोलने से साफ मना कर दिया।

बीपीओ ने युवराज और उस बच्ची के बयान भी लिए, जिसने अध्यापिका मोनिका के कहने पर युवराज के थप्पड़ मारे थे। बीपीओ भूपिदर कौर ने कहा कि उन्होंने अध्यापिका मोनिका, स्कूल के बच्चों से अलग-अलग पहलुओं पर बात की है। वहीं अब युवराज के अभिभावकों को बुधवार को स्कूल बुलाया गया है। जांच के दौरान जो भी बातें हुई हैं, इस दिन की सभी रिपोर्ट डीईओ प्राइमरी को दे दी जाएगी। दूसरी तरफ एएसआइ ओम प्रकाश ने कहा कि शिक्षा विभाग इस संबंध में जांच के बाद जो रिपोर्ट उन्हें देगा, उसके बाद बनती कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

जागरण अब टेलीग्राम पर उपलब्ध

Jagran.com को अब टेलीग्राम पर फॉलो करें और देश-दुनिया की घटनाएं real time में जानें।