मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

डॉ. सुनील धीर, सुल्तानपुर लोधी

श्री गुरु नानक देव जी का संदेश 'किरत करो, नाम जपो व वंड छको' को 22 देशों में फैलाते हुए सिख मोटरसाइकिल क्लब कनाडा एवं खालसा एड के छह सिख बाइक सवार युवकों ने 40 दिन पूर्व कनाडा के शहर सरी से आरंभ की गई मोटरसाइकिल यात्रा का सुल्तानपुर लोधी में रविवार को समापन किया। मोटरसाइकिल सवार छह सिख युवकों का तलवंडी चौधरीयां पहुंचने पर संगत ने उनका भव्य किया। उन्हें ऐतिहासिक गुरुद्वारा श्री बेर साहिब सुल्तानपुर लोधी तक लेकर आने के लिए भव्य नगर कीर्तन का आयोजन शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की ओर से किया गया। नगर कीर्तन में अमृतसर, तरनतारन, खडूर साहिब, गोइंदवाल एवं अन्य इलाकों से संगत भारी संख्या में शामिल हुई। नगर कीर्तन के दौरान विभिन्न धार्मिक संगठनों के लगभग हजारों युवा सेवादारों ने केसरी दस्तार पहनकर अपने-अपने मोटरसाइकिल पर सवार होकर शामिल हुए। रास्ते में संगत ने पुष्प वर्षा कर नगर कीर्तन का स्वागत किया। नगर कीर्तन में फौजी बैंड, एक्स आर्मी फौजी बैंड ने धार्मिक धुन बजाए। संगत बोले सो निहाल के जयकारे लगा रही थी तथा सतनाम वाहेगुरु का जाप कर रही थी।

तीन अप्रैल को कनाडा के सरी से मोटरसाइकिल पर सवार होकर अमरीका, इंग्लैंड, फ्रांस, बेल्जियम, नीदरलैंड, जर्मनी, स्विटजरलैंड, इटली, स्लोवेनिया, ऑस्ट्रिया, हंगरी, सर्बिआ, बुल्गारिया, ग्रीस, टर्की, ईरान व पाकिस्तान होते हुए भारत में पंजाब के शहर सुल्तानपुर लोधी के लिए रवाना हुए छह सिख बाइकसवार जतिंदर सिंह, प्रभजीत सिंह, मनदीप सिंह धालीवाल, यादविदर सिंह सिद्धू , सुखबीर सिंह और जसमीत सिंह का गुरुद्वारा श्री बेर साहिब पहुंचने पर संगत व गुरुद्वारा साहिब के मैनेजर सतनाम सिंह रियाड़, हेड ग्रंथि भाई हरजिदर सिंह आदि ने भव्य स्वागत किया तथा सिरोपा भेंट कर सम्मानित किया। अरदास के बाद सभी बाइक सवार गुरुद्वारा साहिब में नतमस्तक हुए और 550 पौधे लगाए। स्वागत करने वालों में संत बाबा जगतार सिंह, बाबा सेवा सिंह ठाकुर साहिब, शिगारा सिंह लोहिया, एसजीपीसी सदस्य जरनैल सिंह डोगरावाला, बीबी गुरप्रीत कौर रूही, इंजीनियर स्वर्ण सिंह, महिद्र सिंह आहली, भाई हरजीत सिंह,भाई सुरजीत सिंह सभरा, दिलबाग सिंह गिल, जत्थेदार गुरदयाल सिंह, हरभजन सिंह सचिव, सकत्तर सिंह, चानण सिंह दीपेवाल, मेजर सिंह संधु, भाई मनमोहन सिंह, मैनेजर जरनैल सिंह, डॉ. निरवैल सिंह, भुपिदर सिंह खालसा, सुखविदर सिंह माहल, जसकरण सिंह, सतनाम सिंह रामे, कुलविदर सिंह, मनोहर सिंह, तलविदर सिंह, मैनेजर जसवंत सिंह, सुखदेव सिंह भौर, भाई हरजीत सिंह प्रचारक आदि शामिल थे ।

गुरु साहिबान की शिक्षाओं पर अमल करना जरूरी : जतिंदर

मीडिया के साथ बातचीत करते हुए बाइक सवारों की अगवाई कर रहे जतिदर सिंह ने बताया कि वह बहुत सौभाग्यशाली है कि उन्हें श्री गुरु नानक देव जी की चरण स्पर्श प्राप्त इस पावन धरती पर स्थित एतिहासिक गुरुद्वारा श्री बेर साहिब में नतमस्तक होने का सुअवसर प्राप्त हुआ। उन्होंने कहा कि गुरु साहिब की शिक्षाओं के प्रचार और उन पर अमल करने की ओर भी जरूरत है। उन्होंने बताया कि उनका क्लब 15 वर्षों से जरूरतमंदों की आर्थिक मदद, शुगर के रोगियों के लिए जागृति अभियान, सिख धर्म की शिक्षाओं का प्रचार व प्रसार, दिल के रोगियों के लिए जागृति अभियान आदि करता रहा है। इस यात्रा के दौरान उक्त सेवाओं हेतु सहयोग भी एकत्रित किया गया है। गुरु साहिब की कृपा से वीजा व अन्य किसी भी तरह की यात्रा में कोई मुश्किल नहीं आई।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!