अमित ओहरी, फगवाड़ा

प्रदेश में 21 अक्टूबर को होने वाले चार विधान सभा हलकों में उप चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी ने उम्मीदवारों का एलान कर दिया है। फगवाड़ा विधानसभा हलके से उप चुनाव में आम आदमी पार्टी की टिकट को लेकर लंबे समय से चली आ रही खींचतान आखिरकार बुधवार को खत्म हो गई। इस बार आम आदमी पार्टी ने एक आम युवा संतोष कुमार गोगी को फगवाड़ा हलके से अपना उम्मीदवार बनाया है। इसे लोगों का समर्थन हासिल करने के लिए आम आदमी पार्टी का शानदार दांव माना जा रहा है। आम आदमी पार्टी का युवा उम्मीदवार संतोष कुमार गोगी फगवाड़ा के हदियाबाद क्षेत्र में रहने वाले एक सामान्य परिवार से संबंध रखता है और लोकहित से जुड़े सामाजिक कार्यो में सक्रिय रहने के चलते हमेशा चर्चा में रहता है। हालांकि समाज सेवी हरीश बांगा आप की टिकट के प्रबल दावेदार थे। आप की टिकट हासिल करने को लेकर संतोष कुमार गोगी व हरीश बांगा के बीच कड़ी टक्कर चल रही थी लेकिन पार्टी ने संतोष कुमार गोगी पर विश्वास जताते हुए उम्मीदवार घोषित कर दिया। संतोष कुमार गोगी के पिता स्वर्णा राम मजदूरी का काम करते थे। दो नवंबर 1978 को जन्मे संतोष कुमार गोगी आर्थिक स्थिति ठीक न होने के चलते 12वीं से आगे शिक्षा हासिल नहीं कर पाए। पढ़ाई खत्म करते ही उन्होंने लोक सेवा करने की बात मन में ठान ली थी। उन्हें भ्रष्टाचार से सख्त नफरत थी। संतोष समाज सेवी अन्ना हजारे की ओर से शुरू किए गए इंडिया अगेंस्ट करप्शन अंदोलन से काफी प्रभावित रहे। इसके बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंदर केजरीवाल की ओर से बनाई गई आम आदमी पार्टी से जुड़ गए। संतोष तब से ही लगातार फगवाड़ा में आप के वालंटियर के रुप में काम करते आ रहे हैं।

2017 में हुए विधान सभा चुनावों में भी संतोष कुमार गोगी आप की टिकट के प्रबल दावेदार थे, लेकिन तब आप के विधायक सिमरनजीत सिंह बैंस की लोक इंसाफ पार्टी के साथ गठजोड़ होने के चलते यह सीट लोक इंसाफ पार्टी के हिस्से में आई थी। तब यहां से लोक इंसाफ पार्टी के नेता जरनैल नंगल ने चुनाव लड़ा था। अब बेशक आप का फगवाड़ा में पूर्व की अपेक्षा आधार काफी कम हुआ है लेकिन पार्टी की ओर से आम युवा संतोष कुमार गोगी पर खेले गए टिकट के दांव से काफी फायदा मिलने की संभावना है।

संतोष कुमार गोगी पार्षद का भी लड़ चुके हैं चुनाव

आप पार्टी की ओर से फगवाड़ा हलके से उम्मीदवार बनाए गए संतोष कुमार गोगी केमिस्ट की दुकान चलाते हैं। जबकि इनकी पत्नी प्रिया एक निजी स्कूल में टीचर है। समाज सेवा को लेकर राजनीतिक में आए संतोष कुमार गोगी साल 2015 में हुए नगर निगम चुनावों में हदियाबाद इलाके में पड़ते वार्ड नंबर 46 से पार्षद पद के लिए भी चुनाव लड़ चुके हैं। तब वह मात्र 24 वोटों से हार गए थे।

गोगी को टिकट मिलने से समर्थकों में खुशी की लहर

आम आदमी पार्टी की ओर से बुधवार को जैसे ही फगवाड़ा हलके के उप चुनाव लड़ने के लिए संतोष कुमार गोगी के नाम की घोषणा की गई तो उनके आवास पर समर्थक पहुंचना शुरु हो गए। समर्थकों ने संतोष कुमार गोगी का स्वागत कर ढोल की थाप पर भंगड़ा डाला। टिकट मिलने के बाद घर पहुंचे संतोष कुमार गोगी का पारिवारिक सदस्यों व समर्थकों ने तिलक कर घर के अंदर प्रवेश

शिक्षा, स्वास्थ्य, विकास व गरीब वर्ग के लिए करेंगे काम

आप पार्टी के उम्मीदवार संतोष कुमार गोगी ने कहा कि साधारण गरीब परिवार से संबंधित होने के चलते निचले स्तर पर आम लोगों को आने वाली समस्याओं से वह पूरी तरह से वाकिफ है। ऐसे में अगर परमात्मा की कृपा से वह चुनाव जीतते हैं तो उनका मकसद शिक्षा, स्वास्थ, विकास व गरीब वर्ग के लिए काम करना होगा। उनका प्रयास रहेगा कि फगवाड़ा का सर्वपक्षीय विकास करवाकर लोगों को सभी बुनियादी सुविधाएं दी जाए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!