जागरण संवाददाता, अजनाला। Tokyo Olympics 2020: टोक्यो महाकुंभ में भारतीय महिला हॉकी टीम की अर्जेंटीना के खिलाफ सेमीफाइनल में हार से यहां हॉकी खिलाड़ी गुरजीत कौर के घरवाले मायूस हैं। अर्जेंटीना ने भारत को 2-1 से हराकर भारतीय टीम के फाइनल खेलने के सपने को तोड़ दिया। हालांकि आज के मुकाबले में गुरजीत ने खेल के दूसरे ही मिनट में गोल दाग दिया था। भारत की हार से परिवार व पूरा पंजाब मायूस है। हलांकि भारत के लिए अब भी कांस्य पदक की उम्मीदें बरकरार हैं। इसके लिए भारतीय महिला टीम का मुकाबला ब्रिटेन से होगा।

उधऱ,मैच से पहले बुधवार को गुरजीत कौर की मां हरजिंदर कौर, चाचा गुरचरण सिंह ने गांव स्थित गुरुद्वारा साहिब के ग्रंथी जसपाल सिंह व बाबा सेवा सिंह के साथ मिलकर गुरु महाराज के समक्ष भारतीय टीम के दमदार प्रदर्शन के लिए विशेष अरदास की। गुरजीत कौर की मां हरजिंदर कौर ने अरदास करते हुए कहा कि हे वाहेगुरु भारतीय हॉकी टीम खासकर गुरजीत कौर को अपनी प्रतिभा का दमदार प्रदर्शन करने के लिए बुद्धि देना, ताकि पिछले दिनों की तरह भारतीय टीम सेमीफाइनल मैच में भी सराहनीय प्रदर्शन करके आगे बढ़ सके। 

भारतीय महिला हॉकी टीम की सफलता के लिए अरदास करता गुरजीत का परिवार। जागरण

बता दें, टोक्यो ओलंपिक में तीन बार की ओलिंपिक चैंपियन ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ क्वार्टरफाइन में गुरजीत कौर ने शानदार खेल का प्रदर्शन किया था। इससे पूरे पंजाब में उत्साह का माहौल है। गुरजीत के इकलौते गोल की वजह से ऑस्ट्रेलिया को हराकर भारत को पहली बार ओलिंपिक सेमीफाइनल में पहुंचने का मौक मिला। गुरजीत कौर की मां हरजिंदर कौर का कहना है कि गुरु रामदास महाराज की कृपा से उनके घर में खुशियां आई हैं। इसके लिए वह गुरु महाराज की शुक्रगुजार हैं।

गुरजीत के खेल से दादी भी उत्साहित है। दादी दर्शन कौर का कहना है कि उनकी पोती में हिम्मत और मेहनत जज्बा बचपन में ही नजर आता था। जब वह स्कूल पढ़ने के लिए जाया करती थी, तो वह पढ़ाई में भी बढ़िया प्रदर्शन करती थी। 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Edited By: Kamlesh Bhatt