संवाद सहयोगी, जालंधर

शहर में बेखौफ घूम रहे लुटेरे अब बेहद क्रूर भी हो गए हैं। लोगों को लूटना ही कम नहीं था, अब उनको मारपीट कर घायल करना भी शुरू कर दिया। सोमवार देर रात को ऐसी ही घटना लेदर कांप्लेक्स रोड पर हुई, जहां लुटेरों ने फैक्ट्री से काम कर लौट रहे साइकिल सवार श्रमिक को घेरकर बुरी तरह घायल कर दिया और उसका मोबाइल व नकदी छीनकर फरार हो गए। वहां से निकल रहे राहगीरों ने खून से लथपथ पीड़ित अनु विहार निवासी हेमलाल को सिविल अस्पताल में दाखिल करवाया। थाना बस्ती बावा खेल को शिकायत दी गई है। देर रात पुलिस घायल का बयान लेने आई थी, लेकिन हेमलाल बयान देने की हालत में नहीं था।

पीड़ित हेमलाल के साथी ने बताया कि हेमलाल रात नौ बजे के बाद काम खत्म कर घर जाता है। सोमवार रात साढ़े नौ बजे घर जा रहा था। रास्ते में सुनसान जगह पर बाइक सवार लुटेरे आए और तेजधार हथियारों से हमला कर दिया। हेमलाल ने उनका विरोध किया तो लुटेरों ने उसके सिर पर वार कर बुरी तरह घायल कर दिया। लहुलूहान हेमलाल सड़क पर गिर गया, जिसके बाद लुटेरे उसका मोबाइल और जेब में पड़ी नकदी छीनकर फरार हो गए। जिस जगह वारदात हुई, वहां पर सीसीटीवी कैमरे भी लगे थे। पुलिस सुबह सीसीटीवी फुटेज निकलवा कर आरोपितों का सुराग लगाने का प्रयास करेगी। पहले भी लुटेरों के हमला का शिकार हो चुके हैं लोग

हेमलाल पर लुटेरों का हमला कोई पहली घटना नहीं है। इससे पहले भी कई लोग लुटेरों के हमला का शिकार हो चुके हैं। बस्ती दानिशमंदा में कुछ दिन पहले एक्टिवा पर सवार महिला को धक्का देकर बाइक सवार उसका मोबाइल छीनकर फरार हो गए थे। इसी तरह नकोदर रोड पर भी लुटेरों ने एक महिला का पर्स छीनने का प्रयास किया। महिला ने पर्स नहीं छोड़ा तो लुटेरों ने उस पर चाकू से वार किया और पर्स लेकर भाग गए। माडल टाउन में भी बुजुर्ग दंपति पर हमला कर घायल किया था।

दो दिन पहले ही गिरफ्तार हुए थे चाकू से हमला करने के आरोपित

दो दिन पहले ही कमिश्नरेट पुलिस ने चाकू मारकर श्रमिकों से मोबाइल छीनने वाले आरोपित को गिरफ्तार किया था। पुलिस की जांच में सामने आया था कि आरोपित रात के समय काम पर निकलने या आने वाले श्रमिकों को चाकू दिखाकर मोबाइल छीन लेता था। पुलिस जांच में सामने आया था कि आरोपित के कई ऐसे साथी शहर में हो सकते हैं जो इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं।

Edited By: Jagran