जागरण संवाददाता, जालंधर : अयोध्या में भगवान श्री राम के भव्य मंदिर के निर्माण के लिए भूमि पूजन को लेकर गुरु गोबिंद सिंह एवेन्यू में बनें श्री राम मंदिर छोटी अयोध्या को भी दुल्हन की तरह सजाया गया है। मंदिर में भूमि पूजन पर खुशियां मनाने के लिए श्रद्धालुओं मे खासा उत्साह है परंतु मंदिर प्रबंधक कमेटी ने कोविड के चलते कमेटी के सदस्यों व पदाधिकारियों की मौजूदगी में ही आरती करने का फैसला किया है। वहीं शहर में राम भक्तों में खासा उत्साह है। राम भक्त भी घरों में दीपमाला कर भूमि पूजन पर दीपमाला करके इस ऐतिहासिक दिन को मनाएंगे।

गुरु गोबिद सिंह एवेन्यू सूर्या एन्क्लेव में स्थित श्री राम मंदिर छोटी अयोध्या प्रबंधक कमेटी के प्रधान राहुल टंडन का कहना है कि साल 2009-10 में भगवान श्री राम के जीवन को दर्शाने के लिए मंदिर बनाने की योजना को अमलीजामा पहनाकर मंदिर निर्माण का काम शुरू किया गया था। तब अयोध्या में बने मंदिर के मॉडल को मद्देनजर रखा गया था। 11 मई 2015 को शिवाला तथा 19 अप्रैल 2019 शिरडी वाले साई बाबा, भगवान श्री राम के सेवक हनुमान तथा शनिदेव भगवान की मूर्ति प्रतिष्ठापना की गई थी। मंदिर का निर्माण कार्य वर्तमान में भी चल रहा है। भविष्य में मंदिर में श्री राधे श्याम, श्री राम दरबार, मां जगदंबा, श्री लक्ष्मी नारायण, खाटू श्याम, शीतला माता तथा नवगृह की मूर्तियों की स्थापना की जाएगी। अयोध्या में भगवान श्री राम मंदिर में भूमि पूजन को लेकर मंदिर को रंग बिरंगी लाइटों से सजाया गया है। पांच दिन से इसकी सजावट का काम चल रहा है। मंगलवार शाम को सजावट का काम पूरा हो गया। बुधवार को मंदिर में दीपमाला की जाएगी और मंदिर प्रबंधक कमेटी के सदस्य व पदाधिकारी भगवान श्री राम की आरती करेंगे। उधर, शहर में राम भक्तों में भी खासा उत्साह है। राम भक्तों ने दीपमाला कर इस दिन को मनाएंगे। दीपावली से पहले ही एक बार बजार सज गए और मिट्टी के दीये और मोमबत्तियों की बिक्री बढ़ गई।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!