जागरण संवाददाता, जालंधर : अन्नपूर्णा मंदिर कोट किशन चंद में आयोजित श्री रामलीला में हनुमान जी द्वारा मां सीता को अंगूठी निशानी के रूप में देने के दृश्य का मंचन किया गया। सीता माता को ढूंढते हुए हनुमान जी अशोक वाटिका पहुंचते हैं। वहां माता सीता और रावण के बीच संवाद होता है। रावण के जाने के बाद हनुमान जी माता सीता को रामजी की अंगूठी निशानी स्वरूप देते हैं जिसे देखकर सीता जी को हनुमान पर विश्वास हो जाता है। इस अवसर पर अन्नपूर्णा मन्दिर कमेटी के महासचिव सुनील ज्योति, विपन उप्पल, डा. राजेश ज्योति, प्रवीण महाजन, राजेश नोना, अश्विनी हांडा, सुदर्शन भार्गव, राकेश वैद, जितेंद्र शर्मा, अरुण कपूर, राकेश बाहरी, नरेन्द्र सिंह, राघव ज्योति, राजेंद्र राजू, रामलीला कमेटी के प्रधान भगवंत प्रभाकर चेयरमैन कंवलजीत सिंह बेदी मुख्य निर्देशक राम जग्गी, निर्देशक सुभाष शर्मा, सुशील शर्मा जिला भाजपा अध्यक्ष, केवल कृष्ण चोपड़ा, धर्मपाल अरोड़ा, हितेश स्याल, गुलशन कुमार,सचिन,राहुल सेतिया, विक्रम मेहरा, पंकज कुमार, प्रभजोत मल्ली, सुमित टंडन, ओमप्रकाश, तरुण छाबड़ा, कुलजीत सिंह, राजेश राजू अमन सिंह, रविद्र विक्की, हितेश शर्मा आदि सम्मिलित हुए।

Edited By: Jagran