जेएनएन, अमृतसर। पंजाब पुलिस ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआइ समर्थित एक और आतंकी माड्यूल  बेनकाब करने में सफलता हासिल की है। पुलिस ने 4 आतंकवादियों को गिरफ्तार करके बड़ी आतंकी साजिश नाकाम कर दी। आरोपितों ने 8 अगस्त को आईईडी टिफिन बम से आयल टैंकर को उड़ाने की साजिश रची थी। मामला अगस्त में जालंधर से आतंकी गुरमुख सिंह की गिरफ्तारी से जुड़ा है। पुलिस ने पिछले 40 दिन में चौथे पाकिस्तानी आंतकी माड्यूल का पर्दाफाश किया है। यह जानकारी बुधवार शाम डीजीपी दिनकर गुप्ता ने दी। उधर, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आतंकियों की गिरफ्तारी को गंभीरता से लेते हुए पुलिस को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं।  

गिरफ्तार आतंकियों की पहचान रूबल सिंह, विकी भट्टी, मलकीत सिंह और गुरप्रीत सिंह के रूप में हुई है।  रूबल को मंगलवार को अंबाला से गिरफ्तार किया गया था जबकि बाकी तीनों को अजनाला में उनके गांवों से बुधवार को गिरफ्तार किया गया है। इनका पांचवें साथी गुरमुख सिंह बराड़ को कपूरथला पुलिस ने 20 अगस्त को जालंधर से गिरफ्तार किया था। 

8 अगस्त को अजनाला में किया था टैंकर ब्लास्ट

चारों आतंकियों ने 8 अगस्त की रात 11.30 बजे अजनाला में शर्मा फिलिंग स्टेशन के पास आयल टैंकर उड़ाने की कोशिश की थी। उस रात पुलिस को सूचना मिली थी कि अमृतसर-अजनाला रोड पर भाखा तारा सिंह गांव के पास एक आयल टैंकर में आग लग गई है। आग पर दमकल की गाड़ियों ने काबू पाया था। बाद में, सीसीटीवी फुटेज से पता चला था कि रात करीब 11 बजे फिलिंग स्टेशन के पास 4 संदिग्ध व्यक्ति पहुंचे थे। कुछ देर रुकने के बाद वे अमृतसर की तरफ गए और फिर लौटकर 11.19 बजे आयल टैंकर के फ्यूल टैंक पर संदिग्ध वस्तु रखने लगे। 11.29 बजे दो और संदिग्ध लौटे और कुछ ही मिनटों में आयल टैंकर में धमाका हो गया और आग लग गई।

गुरमुख सिंह ने पहुंचाया था टिफिन बम 

प्राथमिक जांच में पता चला है कि गुरमुख सिंह ने टिफिन आईईडी को जालंधर-अमृतसर हाईवे पर हैवोबाल के पास रखा था। जहां से 6 अगस्त को विकी, मलकीत और गुरप्रीत इसे लखबीर सिंह रोडे और कासिम के निर्देश पर अजनाला ले गए थे। 

आतंकी माड्यूल के पीछे आईएसवाईएफ का सरगना लखबीर सिंह रोडे

पुलिस के अनुसार इस आतंकी माड्यूल के पीछे पाकिस्तान में बैठा प्रतिबंधित इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन का प्रमुख लखबीर सिंह रोडे और कासिम का हाथ है। कासिम पाकिस्तानी खुफिया अधिकारी है जबकि लखबीर सिंह रोडे उर्फ बाबा मोगा जिले के गांव रोडे का रहने वाला है और वर्तमान में पाकिस्तान में छिपकर बैठा है। पिछले दिनों जालंधर से गिरफ्तार गुरमुख सिंह रोडे उसका भतीजा है। लखबीर सिंह रोडे का भाई जसबीर सिंह रोडे श्री अकाल तख्त साहिब का पूर्व जत्थेदार है। लखबीर सिंह रोडे ने आयल टैंकर ब्लास्ट के लिए 2 लाख रुपये भेजने का वादा किया था। 

पंजाब में आतंकी गतिविधियां करवाना चाहता है पाकिस्तान

पाकिस्तान लगातार पंजाब को अस्थिर करने की कोशिश में लगा है। वह खुफिया एजेंसी आईएसआई की मदद से सीमा पार हथियारों और हेरोइन की खेप भिजवाने की फिराक में रहता है। इन चार आतंकियों की गिरफ्तारी से पहले 8 अगस्त को अमृतसर के गांव दल्लेके से टिफिन बम के साथ-साथ 5 हथगोले बरामद किए गए थे। इसके बाद 16 अगस्त को स्पेशल आपरेशन सेल, अमृतसर ने आतंकी अमृतपाल सिंह और शम्मी के पास से दो हैंड ग्रेनेड के साथ पकड़ा था।

 20 अगस्त को पंजाब पुलिस ने जालंधर से गुरमुख सिंह बराड़ और उसके साथी को दो हैंडग्रेनेड, एक टिफिन बम, आरडीएक्स व अन्य हथियारों के साथ गिरफ्तार किया था। 31 अगस्त को तरनतारन पुलिस ने आतंकी स्वरूप सिंह को दो हथगोलों के साथ दबोचा था। वह विदेश में बैठे आतंकियों से वीडियो के जरिये धमाका करने की ट्रेनिंग ले रहा था। स्वरूप सिंह इसके लिए पहले ही जालंधर और लुधियाना में संवेदनशील स्थानों की रेकी कर चुका था। पंजाब पुलिस ने समय रहते उसे गिरफ्तार कर लिया।

Edited By: Pankaj Dwivedi