मनुपाल शर्मा, जालंधर। तीन दिन की बरसात में पेट्रोल में मिला एथेनॉल पानी बन गया। इससे नकोदर रोड के एक पेट्रोल पंप पर हंगामा हो गया। उपभोक्ता पेट्रोल पंप संचालक पर पेट्रोल में पानी मिलाने का आरोप लगाने लगे। आखिरकार पेट्रोल पंप के भूमिगत टैंक से पानी निकालने के लिए, पेट्रोल पंप से बिक्री को बंद करवा देना पड़ा। 

बुधवार देर शाम नकोदर रोड, नारी निकेतन, के साथ स्थित पेट्रोल पंप के ऊपर उपभोक्ताओं के वाहन तेल डलवाने के बाद बंद होने लगे। आनन-फानन में जांच की गई तो पता चला कि पेट्रोल में पानी मिक्स हो गया है। बात कंपनी के अधिकारियों तक पहुंची और रात 9:30 बजे पेट्रोल पंप से तेल की बिक्री बंद करवा दी गई। पेट्रोल पंप संचालक गौरव ने कहा कि पेट्रोल में मिक्स एथेनॉल के पानी बन जाने की वजह से ऐसी समस्या उत्पन्न हुई है, जिससे उनका लगभग 4-5 लाख का नुकसान हो गया है। 

पेट्रोल में 10 फीसद एथेनॉल किया जा रहा मिक्स

दैनिक जागरण की तरफ से पहले ही उपभोक्ताओं को चेताया गया था कि मौजूदा बरसात के मौसम के दौरान पेट्रोल में पानी मिलने जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है। वजह यह है कि पेट्रोल में 10 फीसद एथेनॉल मिक्स किया जा रहा है, जो मामूली पानी के संपर्क में आते ही खुद पानी बन जाता है। नकोदर रोड पर स्थित पंप में भी यही समस्या हुई। पिछले 2 दिन से लगातार बारिश हो रही थी, जिसकी वजह से संभव है कि टैंक में कुछ पानी चला गया हो। जैसे ही पेट्रोल में मिक्स एथेनॉल इस पानी के संपर्क में आया। टैंक में पड़ा पेट्रोल में मिक्स एथेनॉल पानी में तब्दील हो गया। इस पेट्रोल को भरवाने वाले उपभोक्ताओं के वाहन भी इसी वजह से बंद हो गए।

पेट्रोल पंप डीलर एसोसिएशन ने उठाए सवाल

पेट्रोल पंप डीलर एसोसिएशन पंजाब (पीपीडीएपी) के प्रवक्ता मोंटी गुरमीत सहगल ने कहा कि एसोसिएशन तो बीते लंबे अरसे से मांग कर रही है कि कम से कम बरसात के मौसम में पेट्रोल में एथेनॉल मिक्स करना बंद किया जाए। अगर कोई व्यक्ति परिवार सहित किसी अन्य राज्य में यात्रा कर रहा हो और उसे ऐसी समस्या रात के समय आ जाए तो फिर उसे होने वाली परेशानी के लिए जिम्मेदार कौन होगा। उन्होंने कहा कि इस वजह से पेट्रोल पंप संचालकों का भी नुकसान हो रहा है और वाहन चालकों को भी परेशान होने के अलावा टैंक साफ करवाने पर पैसे खर्च करने पड़ रहे हैं।

 

Edited By: Pankaj Dwivedi