जागरण संवाददाता, जालंधर : संसद में तीनों कृषि कानून रद होने के पश्चात अब पंजाब सरकार को अपने वादे के मुताबिक किसानों का पूर्ण कर्ज माफ करना चाहिए। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता दीवान अमित अरोड़ा ने कहा कि कानून संसद में रद करने का प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तो अपना वादा पूरा कर दिया, लेकिन पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी एक हफ्ते का किसानों को समय देकर अभी तक खामोश बैठे हुए हैं।

दीवान अरोड़ा ने कहा कि चन्नी सरकार पूर्ण कर्ज माफी के वादे को कैप्टन सरकार की नाकामी बताकर किसानों को धोखा दे रही है। पूर्ण कर्ज माफी नहीं करने से 1600 से ऊपर किसान आत्महत्या कर चुके है। इन पीड़ित परिवारों को सरकारी नौकरी व किसी प्रकार का मुआवजा भी अभी तक पंजाब सरकार ने नहीं दिया है। भाजपा प्रवक्ता ने पंजाब सरकार से मांग की है कि आत्महत्या करने वाले किसानों के परिवारों को शीघ्र एक-एक करोड़ रुपये मुआवजा दिया जाए।

Edited By: Jagran