जागरण संवाददाता, जालंधर। पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और पंजाब विधानसभा चुनाव की मेनिफेस्टो कमेटी के चेयरमैन प्रताप सिंह बाजवा आज जालंधर में एक साथ नजर आएंगे। कभी एक दूसरे के धुर विरोधी रहे दोनों बड़े नेता जालंधर में मीडिया से मुखातिब होंगे और उम्मीद है कि पंजाब माडल पर चर्चा होगी। नवजोत सिंह सिद्धू लगातार यह बात कहते आ रहे हैं कि उनके पंजाब माडल को विधानसभा चुनाव के मेनिफेस्टो में शामिल किया जाना चाहिए। इसे लेकर वह दबाव बना रहे हैं।

उम्मीद है कि जालंधर में मीडिया से बातचीत में यही प्रमुख मुद्दा होगा। दोनों आल इंडिया कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता एडवोकेट जयवीर शेरगिल के घर पर मीडिया से मिलेंगे। इसे लेकर कांग्रेसियों में भी हलचल है।

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी देर शाम तक जालंधर पहुंच सकते हैं वह 26 जनवरी को गुड़गांव में सिंह स्टेडियम में होने वाले गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल होने पहुंच रहे हैं। बता दें कि इससे पहले जालंधर में हुए एक राजनीतिक कार्यक्रम में नवजोत सिंह सिद्धू को मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के साथ शामिल होना था। ऐन मौके पर सिद्धू कार्यक्रम से कन्नी काट गए थे।   

कांग्रेस ने जालंधर की 9 में 8 सीटों पर पुराने चेहरे मैदान में उतारे

बता दें कि कांग्रेस ने जालंधर जिले की सभी 9 विधानसभी सीटों से प्रत्याशी मैदान में उतार दिए हैं। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में शहरी सीटों- जालंधर केंद्रीय, जालंधर पश्चिम, जालंधर उत्तर और जालंधर कैंट से कांग्रेस के प्रत्याशियों ने विजय प्राप्त की थी। इस बार भी चारों सीटों से पुराने चेहरों को ही मैदान में उतारा गया है। देहात की पांच सीटों में से केवल एक आदमपुर से सुखविंदर सिंह कोटली के रूप में नए चेहरे को टिकट दी गई है। 

यह भी पढ़ें - डा. आंबेडकर की प्रतिमा को अपनी माला पहना भगवंत मान मुश्किल में घिरे, चुनाव और एससी कमीशन ने मांगी रिपोर्ट

Edited By: Pankaj Dwivedi