जालंधर, जेएनएन। प्रॉपर्टी टैक्स की वन टाइम सेटलमेंट स्कीम 26 फरवरी को शाम पांच बजे खत्म हो जाएगी। जिन लोगों ने पिछले सालों का टैक्स जमा नहीं करवाया है, अगर वे 26 फरवरी शाम तक टैक्स जमा करवा देते हैं तो उन्हें 70 फीसद तक की बचत हो सकती है। टैक्स जमा नहीं करवाने वालों के लिए 26 नवंबर 2019 को वन टाइम सेटलमेंट स्कीम जारी की गई थी। इस स्कीम से लोगों को यह फायदा हुआ है कि जिनका सात साल का टैक्स 10 हजार बन रहा था, उन्हें अनुमान के अनुसार स्कीम में छूट के तहत तीन हजार से कम टैक्स देना है। इसका फायदा यह हुआ कि करीब 20 हजार डिफाल्टर टैक्स जमा करवा सकते हैं।

26 फरवरी से पहले टैक्स देने वालों की गिनती बढ़ सकती है, इसलिए निगम ने सरकारी छुट्टी के दिन शनिवार 22 फरवरी को नगर निगम के मेन ऑफिस समेत जोन दफ्तरों में सीएफसी सेंटर खोलने का फैसला लिया है। इसके लिए निगम कमिश्नर दीपर्वा लाकड़ा ने विभाग को चिट्ठी जारी कर दी है। प्रॉपर्टी टैक्स विभाग के सुपरिंटेंडेंट महीप सरीन ने बताया कि ज्वाइंट कमिश्नर गुरविंदर कौर रंधावा ने वन टाइम सेटलमेंट स्कीम के आखिरी दिनों में टैक्स देने वालों की गिनती बढ़ने के मद्देनजर व्यापक इंतजाम करने के लिए कहा है। निगम के मेन ऑफिस में भी टैक्स जमा करने के लिए काउंटर बढ़ाए गए हैं। प्रॉपर्टी टैक्स साल 2013-14 में शुरू हुआ था। नियमों के तहत डिफाल्टरों से पूरे सात साल का टैक्स ही लिया जा सकता है। अगर कोई चालू साल का टैक्स देना चाहे तो उसे पुराना टैक्स पहले चुकाना होगा।

एक लाख के पार होगा प्रॉपटी टैक्स पेयर का आंकड़ा

प्रॉपर्टी टैक्स देने वालों का आंकड़ा इस साल एक लाख के पार हो सकता हे। निगम के लिए यह बड़ा मुकाम होगा। जब टैक्स लगाया गया था तब गिनती 30 हजार के आसपास थी, लेकिन हर साल निगम इसे बढ़ाता गया है। इस बीच कई बार यह चर्चा भी बनी कि प्रॉपर्टी टैक्स खत्म किया जा सकता है, लेकिन निगम मुलाजिम कलेक्शन के लिए प्लानिंग करते गए। साल 2018-19 में करीब 80 हजार लोगों ने टैक्स जमा करवाया था और इस साल करीब 90 हजार टैक्स जमा करवा चुके हैं। उम्मीद है कि 31 मार्च तक 10 हजार और लोग टैक्स जमा करवा देंगे।

इन दफ्तरों में जमा करवाएं टैक्स

  • नगर निगम का मेन ऑफिस
  • मॉडल टाउन ऑफिस
  • वीर बबरीक चौक
  • लाल रतन
  • प्रताप बाग
  • रामामंडी
  • गड़ा-अर्बन एस्टेट फेज एक

इन नंबरों पर लें जानकारी

महीप सरीन : 98152-22985

राजीव ऋषि : 94637-61414

भूपिंदर सिंह बड़िंग : 98158-96096

32 करोड़ तक पहुंच सकता है प्रॉपर्टी टैक्स

नगर निगम का प्रॉपर्टी टैक्स कलेक्शन साल 2018-19 में करीब 28 करोड़ था। इस बार यह 32 करोड़ के पास पहुंच सकता है। अब तक 27 करोड़ रुपये टैक्स जमा हो चुका है। उम्मीद है कि 26 फरवरी को वन टाइम सेटलमेंट स्कीम के आखिरी दिन निगम पिछले साल के आंकड़े को पीछे छोड़ देगा। हालांकि बजट में निगम ने 40 करोड़ का टारगेट रखा था, लेकिन यह टारगेट भी पूरा होना संभव नहीं दिख रहा। निगम लोगों को टैक्स जमा करवाने के लिए मोबाइल पर मैसेज भेज रहा है, लेकिन अभी निगम के पास भी परफेक्ट डाटा नहीं है। मैसेज भेजने से लोगों का टैक्स देने में रूझान बढ़ा है।

भविष्य का आधार तैयार हुआ

नगर निगम की आर्थिक स्थिति ठीक होने का आधार तैयार हो रहा है। हालांकि निगम को करीब 1.50 लाख लोगों से टैक्स मिलने की उम्मीद है। यह आंकड़ा अगले तीन साल में पूरा किया जा सकता है। नगर निगम को अब हर साल एक लाख लोगों से टैक्स मिलना तय है और अब फोकस सिर्फ उन लोगों पर रहेगा, जिन्होंने टैक्स जमा नहीं करवाया है। निगम का रिकार्ड ऑनलाइन हो रहा है और इन सभी टैक्स पेयर को हर साल टैक्स जमा करवाने की आखिरी तारीख से पहले ही रिमाइंडर जाने शुरू हो जाएंगे। यही रिकार्ड पानी के बिलों में भी अहम भूमिका निभा सकता है। इससे निगम की आर्थिक स्थिति बेहतर होगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!