जागरण संवाददाता, जालंधर

2013-14 में प्रॉपर्टी टैक्स शुरू होने के बाद से निगम को टैक्स अदा न करने वालों के खिलाफ शिकंजा कसते हुए निगम प्रशासन ने शुक्रवार को शहर में पांच डिफॉल्टरों की कॉमर्शियल संपत्तियां सील कर दीं। बस स्टैंड इलाके के पास पड़ने वाली सतलुज मार्केट में सील की गई दुकानों में किराएदार कारोबार कर रहे थे। निगम की टीम ने शुक्रवार को इन दुकानों पर पहुंचकर जब प्रॉपर्टी टैक्स अदा करने को कहा तो दुकानदारों का कहना था कि वे सालों से काम कर रहे हैं और दुकान मालिकों को किराया भी दे रहे हैं। ऐसे में प्रॉपर्टी टैक्स दुकानों के मालिकों से लिया जाना चाहिए।

प्रॉपर्टी टैक्स विभाग के सुपरिंटेंडेंट राजीव ऋषि ने बताया कि दुकानदारों की बात से निगम की टीम सहमत थी, लेकिन नगर निगम को इन कॉमर्शियल प्रॉपर्टीज का टैक्स नहीं मिल रहा था, इसके चलते इन दुकानों को सील कर दिया गया।

सीलिंग करने पहुंची प्रॉपर्टी टैक्स विभाग की टीम का नेतृत्व कर रहे एक अन्य सुपरिंटेंडेंट महीप सरीन ने बताया कि सतलुज मार्केट में गोल्डन ट्रैवल, हाइलेक्स मोटर्स, पॉपुलर टूअर एंड ट्रैवल्स के ऑफिस सील करने के साथ ही जसबीर ¨सह और हरदयाल ¨सह की दुकानों समेत पांच कॉमर्शियल संपत्तियां सील की गई।

1100 को होगा नोटिस, 350 को जारी

महीप सरीन ने बताया कि प्रॉपर्टी टैक्स विभाग की ओर से सी¨लग की कार्रवाई करने के साथ ही नोटिस भी जारी किए जा रहे हैं। करीब 350 नोटिस जारी कर दिए गए हैं। कुल 1100 नोटिस जारी किये जाने हैं। महीप सरीन का कहना था कि प्रॉपर्टी टैक्स की कार्रवाई महज सेक्टर 10 और 11 तक ही सीमित नहीं रहेगी बल्कि शहर के अन्य 18 सेक्टर्स में भी कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि शहर को कुल 20 सेक्टर्स में बांटा गया है। नोटिस जारी किए जाने के एक सप्ताह तक टैक्स अदा नहीं करने वालों को सी¨लग के नोटिस देकर उनकी संपत्ति सील कर दी जाती है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!