जालंधर, जेएनएन। सिक्स लाइन हाईवे की दुश्वारियां अब दकोहा निवासियों पर भारी पड़ने वाली हैं। पीएपी सर्विस लेन बंद कर देने के बाद अब दकोहा रेलवे क्रॉसिंग के समक्ष हाईवे पर स्थित कट को बंद करने की तैयारी की जा रही है। इस कट को बंद कर देने से दकोहा निवासियों को शहर में प्रवेश करने से पहले शहर से करीब सवा दो किलोमीटर बाहर जाना होगा और फिर फगवाड़ा रोड पर स्थित पहले फ्लाईओवर के नीचे से यू टर्न लेकर लौटना होगा। ऐसे में उन्हें शहर आने के लिए करीब साढ़े चार किलोमीटर तक का अतिरिक्त सफर तय करना होगा।

फिलहाल रेलवे क्रॉसिंग के समक्ष सड़क को सिक्स लेन बनाया जा रहा है और सिक्स लेन का काम निपट जाने के बाद इस कट को बंद कर दिया जाएगा। इसकी पुष्टि प्रोजेक्ट पर कार्य कर रही निजी कंपनी सोमा रोडीज के साइट इंजीनियर हितेश धवन ने भी की है। दकोहा रेलवे क्रॉसिंग के समक्ष कट के अलावा बडिंग गांव के समक्ष बने कट को भी बंद करने की योजना है। ऐसे में दकोहा के अलावा बड़िंग और कैंट जाने वाले लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना होगा।

उल्लेखनीय है कि दकोहा रेलवे फाटक अक्सर बंद ही रहता है। इस रेल लाइन से रोजाना करीब सौ के करीब गाड़ियां गुजरती हैं। ऐसे में इलाके के लोगों को फाटक बंद रहने से भारी परेशानी होती है। फाटक बंद होने पर दूर-दूर तक वाहनों की लंबी कतारें लग जाती हैं। अब कट बंद होने से इलाके के लोगों को और परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। उन्हें शहर जाने के लिए पहले शहर से बाहर जाना होगा और डीपीएस स्कूल के पास से गुजरती सर्विस लेन से होते हुए विक्टोरिया गार्डन के करीब फ्लाईओवर के नीचे बने अंडरपाथ से होकर लौटना होगा। इससे ईधन की बर्बादी तो होगी ही साथ ही समय भी बर्बाद होगा।

ये दो विकल्प हैं लोगों के पास

दकोहा वासियों को शहर जाने के लिए ऐसे में दो विकल्प बचते हैं। इनमें से एक विकल्प रेल लाइन से पहले ही लाइनों के साथ साथ वाली लेन है। इसके अलावा दूसरा विकल्प ब्रिटिश ओलीविया स्कूल के सामने से जाती सड़क से होते हुए रामामंडी के रास्ते रेल ओवर ब्रिज चढ़कर रामामंडी फ्लाईओवर के नीचे से होते हुए शहर की ओर जाया जा सकता है। लेकिन इन दोनों रास्तों की सड़क इतनी संकरी है कि एक साथ दो कारें भी मुश्किल से निकल पाती हैं। ऐसे में यहां स्कूल की छुट्टी के समय अक्सर जाम लगा रहता है। ऐसे में यदि दकोहा का भी ट्रैफिक इन रास्तों पर आ गया तो यहां जाम लगना तय ही है।

रॉन्ग साइड से आना हो सकता है खतरनाक

दकोहा रेल क्रासिंग के सामने कट बंद करने से लोग दकोहा से रॉन्ग साइड होते हुए रामामंडी फ्लाईओवर के नीचे न जाएं। उनका ये कदम बेहद खतरनाक हो सकता है। सवारियां उठाने के लिए सारी बसें रामामंडी फ्लाईओवर पर नहीं चढ़ती और वे सर्विस लेन का ही सहारा लेती है। ऐसे में जब लोग उलटी दिशा से आएंगे तो हादसे होने का खतरा होगा।

दुश्वारियों का सिक्स लेन प्रोजेक्ट

जालंधर-पानीपत के मध्य बनाए गए 291 किलोमीटर लंबे इस सिक्स लेन हाईवे का फायदा हाईवे से गुजरने वाले राहगीरों को ही मिला है और जालंधर शहर के लोगों को तो हाईवे का फायदा होने की बजाय परेशानियां ही मिल रही हैं। पीएपी सर्विस लेन को दोबारा खोलने के लिए पीएपी आरओबी पर रैंप बनाने के लिए सर्वे शुरू किया गया है, लेकिन इसे अमलीजामा पहनाए जाने में लंबा समय लग सकता है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!