जालंधर [मनीष शर्मा]। पुलवामा में 44 सैनिकों की शहादत पर पूरा देश शोक में है। हर कोई शहीद हुए सीआरपीएफ के जवानों के परिवारों का दर्द महसूस कर रहा है, लेकिन राजनीतिक दल व खासकर छुटभैय्ये नेता इसकी आड़ में अपनी राजनीति चमकाने में जुटे हैं।

सियासी आकाओं को खुश करने के लिए नेताओं की बेशर्मी भरी करतूत शुक्रवार को शहर की सड़कों व मुख्य चौराहों पर दिखी। जहां अकाली नेताओं ने स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिद्धू की पाक सेना जनरल कमर जावेद बाजवा के साथ गले मिलने के पोस्टर लगा दिए। ये देख कांग्रेसी भी तुरंत सड़क पर उतर गए और शहर में अकाली प्रधान सुखबीर बादल, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल व बिक्रम सिंह मजीठिया के पाकिस्तान में गोलगप्पे खाते हुए पोस्टर लगा दिए। इसके बावजूद नगर निगम के अफसर तमाशबीन बने रहे और अपने ही विभाग के मंत्री नवजोत सिद्धू के खिलाफ लगे पोस्टर उतारकर खानापूर्ति कर दी।
 

 

मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के पोस्टर सामने आने के बाद कांग्रेस ने जवाब में अकाली नेता विक्रम सिंह मजीठिया और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के पोस्टर लगा दिए।

नगर निगम पब्लिक प्रॉपर्टी पर बिना मंजूरी ऐसे पोस्टर लगाने पर केस दर्ज करा सकता था। नेताओं की इस करतूत की शहर में चौतरफा निंदा हो रही है और लोग इस बात से भी नाराज हैं कि राजनीति करने में कम से कम सैनिकों की शहादत को तो बख्श देना चाहिए। अकालियों के लगाए पोस्टर निगम ने उतारे तो कांग्रेसियों के लगाए पोस्टरों को अकाली दल वालों ने उतार दिया। ये बैनर गुरुगोबिंद सिंह स्टेडियम, जीटीबी नगर व मॉडल टाउन और मिशन चौक समेत कई स्थानों पर लगाए गए थे।

अकालियों के पोस्टर: बाजवे दा यार, सिद्धू देश दा गद्दार

पुलवामा आतंकी हमले के बाद मंत्री नवजोत सिद्धू ने पूरे पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराने का विरोध किया था। इसे देखते हुए सिद्धू की चौतरफा आलोचना हो रही है। अकालियों के पोस्टर में सिद्धू की पाक सेना प्रमुख बाजवा के साथ गले मिलते ही फोटो लगाई गई है और उसमें 'बाजवे दा यार, सिद्धू देश दा गद्दार' लिखा है।

कांग्रेसियों का जवाब : लाहौर दे गोलगप्पे, पंजाब चों गफ्फे, आण दियो बस

मंत्री सिद्धू के खिलाफ पोस्टर लगते ही कांग्रेसी भी सड़क पर उतर आए। उन्होंने सुखबीर बादल व बिक्रम सिंह मजीठिया के लाहौर में गोलगप्पे खाते की फोटो के पोस्टर बनवा डाले। जिसमें 'लाहौर दे गोलगप्पे, पंजाब चों गफ्फे, आण दियो बस...' लिखकर सिद्धू को देश का गद्दार बताने का जवाब दिया। अकालियों के एक पोस्टर के जवाब में कांग्रेसियों ने एक और पोस्टर बनाया, जिसमें पाक पीएम रहे नवाज शरीफ के साथ सुखबीर बादल, बिक्रम मजीठिया व हरसिमरत बादल की फोटो लगा लिखा 'कीहने देश खाद्दा, कीहने पंजाब खाद्दा, कीहने पंथ खाद्दा, दुनियां सब जाणदी है'।



कांग्रेस की ओर से लगाए पोस्टरों को उतारते हुए यूथ अकाली दल के नेता।

कांग्रेसियों ने पीएम मोदी और बाजपेयी जी को भी न बख्शा

कांग्रेसियों ने पोस्टर वार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पूर्व पीएम स्व. अटल बिहारी बाजपेयी को भी नहीं बख्शा। पीएम मोदी के नवाज शरीफ को गले लगाते, हाथ मिलाते और नवाज शरीफ के बाजपेयी के साथ हाथ उठाकर अभिवादन करते की फोटो भी पोस्टर में लगा दी। इसमें हाल ही में करतारपुर कॉरीडोर की शुरुआत के वक्त शामिल हुईं केंद्रीय मंत्री हरसिमरत बादल की पाक पीएम इमरान खान के साथ की फोटो भी पोस्टर में लगा दी।

सिद्धू ने कुछ भी गलत नहीं कहा है। अकाली दल जानबूझकर दुष्प्रचार कर रहा है। इस वक्त हमें फौजियों को शहीद करने वाले दुश्मनों से लडऩे की जरूरत है न कि आपस में इस तरह की हरकत करने की। मेरा भी मानना है कि शहादत पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। -बलदेव सिंह देव, शहरी प्रधान, कांग्रेस।


अकालियों ने कोई पोस्टर नहीं लगाए, यह सब कांग्रेसियों की साजिश है। वो भाईचारक सांझ बिगाडऩे के लिए ऐसी घटिया राजनीति कर रहे हैं। शहादत की आड़ में राजनीति चमकाने की इस कोशिश की मैं कड़ी निंदा करता हूं। पुलिस पोस्टर लगाने वालों पर केस दर्ज करे। -कुलवंत सिंह मन्नन, प्रधान, अकाली दल।

अपने ही मंत्री के खिलाफ लगे पोस्टर उतरवाए, लेकिन कारवाई से पीछे हटा निगम
 

नगर निगम प्रशासन ने भले ही अपने मंत्री के खिलाफ लगे पोस्टर व बैनर उतरवा दिए लेकिन अपने ही मंत्री को गद्दार बताने वाले नेताओं के खिलाफ द पंजाब प्रिवेंशन ऑफ डिफेसमेंट ऑफ प्रॉपर्टी एक्ट 1997 को लेकर कार्रवाई करवाने से पीछे हट गया। इस बाबत निगम कमिश्नर दीपर्वा लाकड़ा से बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pankaj Dwivedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!