कुसुम अग्निहोत्री, जालंधर

सोशल मीडिया पर खूबसूरत लड़की की तस्वीर लगाकर युवाओं को फंसाकर देश की खुफिया जानकारी लेने की खबरें कई बार चर्चा में रहती हैं। इसी तर्ज पर अब पंजाब के सियासी दलों ने भी युवा और तकनीक पसंद मतदाताओं को अपने पक्ष में करने के लिए पार्टियों ने सोशल मीडिया पर पॉलिटिकल हनी ट्रैप का सहारा लिया है।

पार्टियां व्हाट्सएप पर खूबसूरत लड़कियों की (डीपी) फोटो लगाकर एक-दूसरे के खिलाफ वीडियो मैसेज प्रचारित कर रहीं हैं। इन नंबरों पर कॉलबैक करने पर पता चलता है कि अधिकतर मध्यप्रदेश के हैं और स्विच ऑफ आ रहे हैं। वाट्सएप पर मोबाइल नंबर 7828297071 से 20 जनवरी को वीडियो मैसेज में आम आदमी पार्टी की वादाखिलाफी के खिलाफ वीडियो भेजी गई। इसके अलावा 9977554965 नंबर से भेजे वीडियो मैसेज में पंजाब में आप के खिलाफ जमकर प्रचार किया गया है। इसके अलावा मोबाइल नंबर 8103848390, 9691856571, 9907691712, 8103587243 से वाट्सएप पर खूबसूरत लड़कियों की फोटो लगा विरोधी पार्टी के खिलाफ चुनाव प्रचार किया जा रहा है।

--------------------

दोहरा फायदा : खर्च कम, निगरानी मुश्किल

सोशल मीडिया पर प्रचार करके एक तरफ यह उम्मीदवार अन्य खर्चो से बच रहे हैं दूसरी ओर चुनाव आयोग की नजर से भी बचे हुए हैं। यही नहीं, इससे वह अपना चुनाव प्रचार दूर-दूर तक करोड़ों लोगों तक पहुंचा बना रहे हैं। पंजाब में भी अन्य प्रदेशों के नंबरों से पार्टियां वोटरों को वाट्सएप पर वीडियो मैसेज भेजकर विरोधी पार्टी के खिलाफ प्रचार कर रही हैं।

---------------

प्रचार के लिए युवाओं को जोड़ा

विभिन्न राजनीतिक पार्टियों ने सोशल मीडिया पर चुनाव प्रचार करने के लिए सैकड़ों युवाओं को साथ जोड़ा है। इसके माध्यम से पार्टियां व उम्मीदवार अपने लाइव शो, भाषण और कार्यक्रमों को पोस्ट कर लोगों में चर्चा का कारण बने हुए हैं। आप के सोशल मीडिया संयोजक अंकित लाल ने बताया कि सोशल मीडिया पर प्रचार करने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर 16 सदस्यीय कोर टीम है जो सोशल मीडिया का संचालन करती है। अन्य 55 सदस्य देश और विदेश से इसका संचालन कर रहे हैं। 200 सक्रिय स्वयंसेवक भी सोशल मीडिया पर प्रचार कर रहे हैं। उनके ट्विटर पर 26 लाख से ज्यादा फॉलोअर्स हैं जबकि फेसबुक पर एक करोड़ लाइक्स हैं।

-------------------------

सोशल मीडिया पर कांग्रेस नई

सोशल मीडिया पर कांग्रेस, भाजपा-शिअद और आप के बीच हैशटैग, ट्वीट, वीडियो और फेसबुकपोस्ट के माध्यम से जंग छिड़ी हुई है। सोशल मीडिया मंच पर काग्रेस नई है। उसकी फेसबुक लाइक्स और फॉलोइंग (35 लाख) और ट्विटर फॉलोइंग (तीन लाख) से भी यही झलकता है। वहीं कांग्रेस की तुलना में भाजपा को फेसबुक पर 73 लाख लाइक्स हैं जबकि ट्विटर पर उसके 12 लाख फॉलोअर्स हैं। अकाली दल ने भी सोशल मीडिया के लिए अलग से विंग बनाया है। इस विंग को सीधे डिप्टी सीएम सुखबीर बादल के निर्देशों पर चलाया जा रहा है। फेसबुक पर अकाली दल को 50 लाख लाइक्स मिले हैं जबकि ट्विटर पर उसके 10 लाख फॉलोअर्स हैं।

------------------

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!