जालंधर, जेएनएन। फिल्लौर में वीरवार शाम पुराने नवांशहर रोड पर ड्रग्स मामले में जेल से जमानत पर आए मोहल्ला भंडेरा के हरप्रीत उर्फ चिंटू की गोलियां मारकर हत्या करने से पहले उसकी रेकी की गई थी। बताया जा रहा है कि गोलियां मारने वालों को पता था कि चिंटू अपने जानकार से मिलने के लिए वहां आने वाला है। ऐसे में पुलिस उसे फोन करने वालों के नंबर उसके मोबाइल से खंगाल रही है ताकि हत्यारों तक पहुंचने का कोई सुराग हाथ लग सके।

चिंटू गोलियां लगने के बाद जब जमीन पर गिरा था तो वहां पर मौजूद लोगों ने वीडियो बना ली थी। वीडियो में हमलावर तो नजर नहीं आ रहे लेकिन वहां पर चिंटू के जानकार होने की पुष्टि हुई। वीडियो में कुछ लोग चिंटू को पहचान कर लोगों से उसकी मदद को कह रहे हैं। लोगों की मदद से उक्त लोग चिंटू को उसी की गाड़ी में डालकर अस्पताल में ले जाते हैं। पुलिस ने यह वीडियो कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है।

वहीं बताया जा रहा है कि वहां पर लगे कुछ सीसीटीवी कैमरों की फुटेज पुलिस ने निकाल ली है और उसमें कुछ संदिग्धों की तस्वीरें भी कैद हो गई हैं। हालांकि इस बारे में पुलिस ने कोई पुष्टि नहीं की है। इस संबंध में थाना प्रभारी सुक्खा सिंह का कहना था कि फिलहाल इस मामले में कुछ नहीं कहा जा सकता। जांच की जा रही है और सीसीटीवी फुटेज भी खंगाली जा रही हैं। हमलावरों की जल्द पहचान करवा कर उनको गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

यह है मामला

वीरवार शाम सवा पांच बजे फिल्लौर के कनाट प्लेस कहे जाने पुराने नवांशहर रोड पर ड्रग्स मामले में जेल से जमानत पर आया हरप्रीत उर्फ चिंटू अपनी गाड़ी में आकर रुका। जैसे ही वो कार से बाहर निकला तो पहले से बाइक पर खड़े तीन युवकों ने उस पर अंधाधुंध फायर करने शुरू कर दिए। ऐसा लग रहा था कि उनको पहले से ही पता था कि उक्त व्यक्ति वहां पर आ रहा है। गोलियां लगते ही चिंटू जमीन पर गिर गया व हमलावार मौके से फरार हो गए। चिंटू ड्रग्स के केस में पकड़ा गया था और कई सालों से जेल में था। एक अक्टूबर को ही जमानत पर बाहर आया था। लोग उसे उसकी ही गाड़ी में डाल कर पहले निजी अस्पताल में ले गए जहां से उसे डीएमसी में रेफर कर दिया गया, जहां पर उसकी मौत हो गई।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!